--Advertisement--

आरोपी ने बताया छह साल में कब कब चुराई 70 AK-47, आर्डनेंस डिपो के रिकॉर्ड की जांच शुरू

सेंट्रल आर्डनेंस डिपो (सीओडी) में जबलपुर पुलिस ने एके-47 चोरी होने के मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने आरएसएसडी वर्

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 12:40 PM IST

जबलपुर। सेंट्रल आर्डनेंस डिपो (सीओडी) में जबलपुर पुलिस ने एके-47 चोरी होने के मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने आरएसएसडी वर्कशॉप का रिकॉर्ड जब्त किया है। प्रबंधन ने पुलिस टीम को निश्चित एरिया से कहीं और नहीं जाने दिया। आरोपित सुरेश ठाकुर (सीओडी के सीनियर वर्कशॉप इंचार्ज) के बयानों का मिलान करके जांच को आगे बढ़ाया जाएगा। सुरेश ने 6 साल के दौरान 70 एके-47 की चोरी करना कबूल किया है। उसने पूछताछ में एके-47 चोरी करने की तारीखें भी बताईं है। इधर जिले की पुलिस बिहार के मुंगेर जिले में एके-47 के साथ पकड़े गए तीनों आरोपितों को प्रोटक्शन वारंट पर यहां लेकर आएगी।


मुंगेर पुलिस ने एके-47 सहित आरोपित इमरान, नियाजुल हसन व शमशेर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन आरोपितों के कब्जे से 6 एके-47 बरामद की हैं। इन आरोपितों ने सभी एके-47 जबलपुर के पुरुषोत्तम रजक से खरीदना बताया है। इस वजह से इन आरोपितों को जबलपुर लाकर पूछताछ की जाएगी। तस्करी के मामले में सेना के सेवानिवृत्त ऑर्मरर पुरुषोत्तम रजक, उसकी पत्नी चन्द्रवती, बेटे शीलेन्द्र और सीओडी के आरएसएसडी वर्कशॉप के सीनियर इंचार्ज सुरेश ठाकुर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनमें से आरोपित पुरुषोत्तम, शीलेन्द्र व सुरेश के लिए एक सप्ताह की पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ और मामले की जांच हो रही है।

पांच लाख के जेवर जब्त

पुलिस ने आरोपित चन्द्रवती को रीवा जिले के ऊंचेहरी गांव से पकड़ा और जरूरी पूछताछ करके उसके कब्जे से ढाई लाख रुपए और साढ़े पांच लाख के जेवर जब्त किए। आरोपित चन्द्रवती को पुलिस ने बीते शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

यह है मामला

बिहार के मुंगेर जिले से 3 एके-47 सहित पुलिस ने इमरान को पकड़ा। उसने पूछताछ में एके-47 जबलपुर से खरीदकर लाने की बात बताई। इसके बाद जबलपुर पुलिस, क्राइम ब्रांच व एटीएस ने सक्रियता दिखाकर सेना के सेवानिवृत्त आर्मरर पुरुषोत्तम को हिरासत में लिया। उसने पत्नी चंद्रवती और बेटे शीलेंद्र की मदद लेकर मुंगेर जिले में इन्हें बेचने कबूल किया। इसके बाद पुलिस ने सुरेश ठाकुर को पकड़कर पूछताछ की। इस तरह 6 साल के दौरान 70 से ज्यादा एके-47 चुराने का खुलासा हुआ।