पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कर्मचारी ने खाेली दीनदयाल चलित अस्पताल में चल रहे फर्जीवाड़े की पोल

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
Advertisement
Advertisement

सागर। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में अनुबंध के आधार पर काम कर रहे कर्मचारी ने दीनदयाल चलित अस्पताल में चल रहे फर्जीवाड़े की पोल खोल दी है। प्रदेश में 108 एंबुलेंस सहित रेफरल-ट्रांसपोर्ट सिस्टम का संचालन कर रही जिगित्सा हेल्थ केयर के पेटी कॉन्ट्रेक्टर पर उसके शैक्षणिक दस्तावेजाें का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। 


इस संबंध में कर्मचारी ने कलेक्टर प्रीति मैथिल तथा एसपी अमित सांघी से लिखित शिकायत की है। शिकायत की कॉपी एनएचएम के डिप्टी डायरेक्टर व जिगित्सा हेल्थ केयर के स्टेट हेड जितेंद्र शर्मा को भी भेजी गई है। शिकायत में संतकबीर वार्ड सागर निवासी कर्मचारी सौरभ पिता प्रकाश कोरी ने कहा है कि जिगित्सा हेल्थ केयर लिमिटेड के तहत ग्वालियर में एसजी इंटरप्राइजेज संस्था पेटी कॉन्ट्रेक्ट पर दीनदयाल चलित अस्पताल का संचालन कर रही है। संस्था ने जून 2017 में लैब टेक्नीशियन के पद पर भर्ती निकाली थी। इस पद के लिए उसने आवेदन किया था। 


कंपनी की ओर से फोन कर चयन होने की सूचना दी गई थी और ग्वालियर बुलाया गया था। ग्वालियर पहुंचने पर उसे डॉ. गिरिजाशंकर गुप्ता मिले। जिन्होंने खुद को कंपनी का मालिक बताया। साथ ही मेरे शैक्षणिक सहित अन्य दस्तावेजों की फोटोकॉपी जमा करा ली। अगले दिन बुलाकर मुरैना जिले के पहाड़गढ़ में सेवाएं देने की बात कही गई। दूरी अधिक होने के कारण उसने सेवाएं देने से मना कर दिया। इस पर डॉ. गुप्ता ने अभद्रता की और दस्तावेज रख लिए। 


करीब डेढ़ साल से वह बीएमसी में कार्यरत है। कुछ दिन पहले उसे पता चला कि उसके दस्तावेजों के आधार पर श्योपुर जिले के करहाल ब्लॉक में अन्य कर्मचारी नियुक्त किया गया है। उक्त कर्मचारी को उसके नाम पर कार्य करना दर्शाया जा रहा है। शिकायत में जेडएचएल के स्टेट हेड तथा एसपी से पेटी कॉन्ट्रेक्टर पर कार्रवाई करने की मांग की गई है। कार्रवाई नहीं होने पर कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की चेतावनी दी गई है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप अपनी रोजमर्रा की व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय सुकून और मौजमस्ती के लिए भी निकालेंगे। मित्रों व रिश्तेदारों के साथ समय व्यतीत होगा। घर की साज-सज्जा संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत हो...

और पढ़ें

Advertisement