मप्र / डकैत बबुली कोल और उसका साथी लवलेश पुलिस मुठभेड़ में मारा गया, साढ़े 6 लाख का था इनामी

बबुली कोल। -फाइल बबुली कोल। -फाइल
X
बबुली कोल। -फाइलबबुली कोल। -फाइल

  • मध्य प्रदेश पुलिस ने इन दोनों डकैतों के मारे जाने की आधिकारिक पुष्टि की
  • हाल ही में मप्र के हरसेड गांव के बबुली कोल ने एक किसान अवधेश का अपहरण किया था

दैनिक भास्कर

Sep 16, 2019, 11:53 AM IST

सतना. कुख्यात डकैत बबुली कोल और उसके साथी लवलेश कोल को मध्य प्रदेश पुलिस ने रविवार रात एक मुठभेड़ में मार गिराया। बबुली पर साढ़े छह लाख और उसके साथी लवलेश पर 1.80 लाख रुपए का इनाम था। मध्यप्रदेश के साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस को लंबे समय से इनकी तलाश थी। रीवा रेंज के आईजी चंचल शेखर ने बबुली और लवलेश के मारे जाने की पुष्टि की।

 

पुलिस सूत्रों ने बताया कि रविवार रात एसपी रियाज इकबाल उप्र सीमा से सटे हुए धारकुंडी इलाके में वीरपुर जंगल में कॉबिंग पर थे। तभी पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ हो गई। इस दौरान गोली लगने से बबुली और लवलेश मारे गए। आईजी, डीआईजी और एसपी पिछले कई दिनों से सतना में कैंप किए हुए थे। 


हाल ही में डकैत बबुली कोल गैंग ने मध्य प्रदेश के हरसेड गांव से अवधेश नाम के किसान का अपहरण किया था। सूत्रों ने बताया कि डकैतों ने 50 लाख की फिरौती की रकम मांगी थी। लेकिन, बाद में  छह लाख रुपए मिलने के बाद किसान को मुक्त कर दिया था। किसान के अपहरण के बाद से पुलिस इनके पीछे पड़ी थी।

 

गैंगवार का शिकार हुआ बबुली कोल!

शुरू में ऐसी खबरें भी सामने आई कि किसान अवधेश के अपहरण के बदले मिले रुपए के बंटवारे को लेकर बबुली कोल गिरोह में फूट पड़ गई थी। गैंग में नए शामिल हुए लाली कोल ने इन दोनों को मौत के घाट उतारा था। हालांकि पुलिस ने इससे इंकार किया है। बबुली कोल एक राज्य में वारदात करने के बाद दूसरे राज्य में भाग जाता था। इस वजह से वो पुलिस के हाथ नहीं आ रहा था।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना