सतना / कोर्ट ने गैंगरेप के तीन आरोपियों को बरी किया; कोर्ट में महिला नहीं कर पाई आरोपियों की पहचान

सतना न्यायालय ने सुनाया फैसला। सतना न्यायालय ने सुनाया फैसला।
X
सतना न्यायालय ने सुनाया फैसला।सतना न्यायालय ने सुनाया फैसला।

  • सतना जिला न्ययालय ने गैंगरेप के आरोप में एक साल से जेल में बंद तीन आरोपियों को रिहा किया
  • कोर्ट ने आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए

दैनिक भास्कर

Aug 02, 2019, 06:07 PM IST

सतना. यहां के जिला न्यायालय ने गैंगरेप के आरोप एक साल से जेल में बंद तीन आरोपियों को बरी करते हुए झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने वाली महिला के खिलाफ केस दर्ज कर मुकदमा चलाने का आदेश दिया है। न्यायालय ने आरोपियों को दोष मुक्त कर दिया है।

 

जानकारी के अनुसार, 28 फरवरी 2018 को महिला ने अपहरण के बाद सामूहिक बलात्कार का मामला सिविल लाइन थाने में दर्ज कराया था, इस पर चार में से तीन आरोपी एक साल से जेल में थे। कोर्ट ने अब उन्हें रिहा कर दिया है।  इतना ही नहीं झूठे मामले में फंसाने वाली महिला पर सीजेएम कोर्ट में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। महिला ने आरोप लगाया था कि उसका सड़क से अपहरण कर गैंग रेप किया गया था, लेकिन सतना की स्पेशल कोर्ट में 17 महीने चले इस प्रकरण में सारे गवाह और आरोप झूठे साबित हुए।

 

कोर्ट में आरोपियों की पहचान नहीं कर सकी पीड़िता

आरोप लगाने वाली महिला न्यायालय में आरोपियों की पहचान ही नहीं कर सकी। इसके बाद अदालत ने सबूत और गवाह के अभाव में रेप के मामले में जेल में बंद तीनों आरोपियों को रिहा कर दिया। अदालत ने उल्टा महिला को अपहरण और गैंग रेप जैसे संगीन मामले में बेकसूर लोगों को फंसाने का दोषी मानते हुए आईपीसी की धारा 182, 193, और 211 के तहत अपराध दर्ज करने के आदेश दिए है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना