छतरपुर / एक्सीडेंट में हुई थी लड़की की मौत, अस्पताल लाने वाला भाई नहीं प्रेमी निकला, भगाकर ले जा रहा था



crime
X
crime

  • आरोपी ने खुद का नाम भी बताया फर्जी, घटना स्थल भी फर्जी, पीएम हाउस से अचानक हुआ गायब, पकड़ा

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 05:19 PM IST

छतरपुर/लवकुशनगर। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लवकुशनगर में शुक्रवार की शाम करीब 5:30 बजे एक युवक घायल अवस्था में 16 वर्ष की लड़की को लाया था। लड़की के बाइक से गिरने के कारण घायल होने की बात कही गई थी। डाॅक्टरों ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया था। लड़की को अस्पताल लाने वाले युवक ने खुद को बम्हौरी पुरवा निवासी धर्मेद्र करण राजपूत बताया था और लड़की का नाम पूजा राजपूत लिखाया, उसे अपनी छोटी बहन बताया था। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी थी।

 

 

घटना के दिन शाम हो जाने की वजह से मृतका का पोस्टमार्टम शुक्रवार को न होकर अगले दिन शनिवार को कराया जाना था। इससे युवती के शव के पास उसका बड़ा भाई बना बैठा धर्मेंद्र राजपूत रुका रहा, लेकिन शनिवार सुबह जब देखा गया तो धर्मेंद्र राजपूत मौके से गायब था। तलाशने के बाद उसका पता नहीं चला, तो मामला संदेहास्पद प्रतीत हुआ। 


सूचना मिलते ही एसडीओपी केसी पाली और थाना प्रभारी लवकुशनगर केबी आर्य के निर्देशन में एसआई राजेंद्र सिंह, आरक्षक अनीश खान ग्राम बम्होरी पुरवा पहुंचे और आरोपी धर्मेंद्र करण की जानकारी प्राप्त की। जहां से मामला कुछ और ही नजर आया। पुलिस को आरोपी धर्मेंद्र कारण जुझारनगर बस स्टैंड पर मिला। उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की गई। उसने बताया कि मृतिका उसकी बहन नहीं, बल्कि उसकी नाबालिग प्रेमिका थी। लड़की को वह कबरई थाना जिला महाेबा से भगाकर लाया था।


आरोपी से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि मृतिका का नाम पूजा राजपूत नाम नहीं था। उसने गलत जानकारी दी थी। वह राजपूत जाति की थी। उसने खुद का असली नाम भी धर्मेद्र करण राजपूत बताया जबकि असली नाम धर्मेंद्र कड़ेर है। वह बम्हौरी पुरवा गांव का रहने वाला है। आरोपी ने बताया कि नाबालिग लड़की को भगाने में उसकी मदद बम्हौरी पुरवा निवासी सुनील पाल ने की थी, आरोपी सुनील पाल की बाइक से ही लड़की को कबरई क्षेत्र से भगा कर लाया था।


आरोपी धर्मेद्र कड़ेर ने लवकुशनगर पुलिस को बताया था कि महोबा लवकुशनगर मार्ग पर बांस पहाड़ी के पास बाइक दुर्घटना ग्रस्त हुई थी। जब पुलिस ने सख्ती से पूछा तो उसने बताया कि दुर्घटना बांस पहाड़ी में नहीं बल्कि कबरई थाना क्षेत्र के पहरा रेलवे क्रॉसिंग के पास हुई थी। यूपी पुलिस के केस से बचने के उद्देश्य से उसने घटना स्थल बांस पहाड़ी बताया था। घटना के बाद आरोपी का साथी सुनील पाल बाइक सहित फरार हो गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना