दमोह / महिला जिला पंचायत सदस्य ने अपहरण कहानी बताई झूठी, बोलीं- मैं जबलपुर में थी



damoh news
X
damoh news

  • जिला पंचायत उपाध्यक्ष चुनाव में उपस्थित नहीं हुई थी 
  • अपहरण की आशंका के चलते पुलिस ने दर्ज किया था मामला

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2019, 11:18 AM IST

दमोह। पथरिया किशुनगंज से महिला जिला पंचायत सदस्य चंद्रवती अठ्या के अपहरण का मामला झूठा निकला। मंगलवार शाम करीब 4.30 बजे अठ्या अन्य सदस्यों के साथ एसपी कार्यालय पहुंचीं और अपने बयान दर्ज कराए जहां से उन्हें एसपी आफिस से एसडीएम कोर्ट ले जाकर उनके बयान दर्ज कराए गए। बयान देने के बाद मीडिया से चर्चा में चंद्रवती ने कहा कि उनका अपहरण नहीं हुआ था। वे जबलपुर में थीं, पति से संपर्क नहीं हो पा रहा था।    


जिला पंचायत उपाध्यक्ष के चुनाव में 12 सदस्यों को मौजूद होना था, लेकिन उनमें से 10 सदस्य ही मौजूद रहे। दो सदस्य अनुपस्थित रहे। जिसमें चंद्रवती अठ्या का नाम भी शामिल था। चंद्रवती अठ्या के पति प्रभू अठ्या ने सोमवार को देर रात विधायक रामबाई को पत्नी के गायब होने की सूचना दी थी। जिस पर रामबाई ने जिला पंचायत सदस्य राघवेंद्र लोधी और संतोष अठ्या पर महिला जिला पंचायत सदस्य का अपहरण करने का आरोप लगाया था। इस संबंध में बिना जांच के ही पथरिया पुलिस ने जिला पंचायत सदस्य राघवेंद्र लोधी और संतोष अठ्या के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया था।   


विधायक ने जताई आपत्ति: एसपी कार्यालय में महिला को बयान के लिए गोपनीय कक्ष में ले जाने पर पथरिया विधायक भी अपने समर्थकों के साथ वहां पहुंच गईं। इस बीच उनके साथ आए समर्थकों और पुलिस के बीच बहस भी हुई। हंगामा के हालात बनने पर जहां सीएसपी आलोक शर्मा सहित कोतवाली टीआई आरके गौतम और पुलिस बल पहुंचने पर सभी को कार्यालय से बाहर निकलवाया गया। 


दूसरी जगह भी पहुची विधायक: यहां से महिला सदस्य को पुलिस एसडीएम कार्यालय लेकर पहुंची, विधायक वहां भी पहुंची और एसडीएम नहीं होने पर महिला सदस्य को अपनी गाड़ी में बैठाकर ले जाने लगी तो पथरिया से हारे प्रत्याशी राव ब्रजेेंद्र सिंह सहित अन्य सदस्यों ने अापत्ति जताई और पुलिस के सामने महिला सदस्य का अपहरण करने का आरोप लगाते हुए नारे लगाने लगे। पुलिस ने महिला सदस्य को विधायक की गाड़ी से उतरवाया और पुलिस की गाड़ी में बैठाकर फिर एसपी कार्यालय ले गए जहां से फिर एक बार महिला सदस्य को एसडीएम कोर्ट लाया गया और इसके बाद न्यायालय में पेश किया गया।   


मैं अपने घर जाना चाहती हूं: न्यायालय में बयान होने के बाद महिला सदस्य चंद्रवती अठया ने बताया कि मेरा अपहरण नहीं हुआ था मैं जबलपुर में थी और मेरा मोबाइल बंद होने से पति से संपर्क नहीं हो पाया, इसलिए झूठी रिपोर्ट दर्ज हो गई। अब मैं अपने घर जाना चाहती हूं। पुलिस सुरक्षा के बीच महिला को ले जाया गया।  

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना