दमोह / डैम में डूबने से चचेरे भाइयों की मौत, 4 साल का बच्चा सेफ्टी टैंक में गिरा

स्टॉप डैम। स्टॉप डैम।
X
स्टॉप डैम।स्टॉप डैम।

  • मौके पर मिली चप्पलों से हुई पहचान, रनेह थाने के कुंवरपुर गांव का मामला दोनों कक्षा 7 में साथ-साथ पढ़ते थे, छुट्टियों में आए थे गांव 
  • वहीं जिले के मडियादो गांव में 4 साल का एक बच्चा खेलते हुए सेफ्टी टैंक में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई

Jul 04, 2019, 03:12 PM IST

हटा (दमोह). रनेह थाना के कुंवरपुर गांव में नाले के पास बने स्टॉपडेम में डूबने से चचेरे भाइयों की मौत हो गई। दोनों 11-11 साल के थे और कक्षा 7 वीं में पढ़ते थे। दोनों बुधवार को सुबह 10 बजे घर से निकले थे और 12 बजे तक वापस नहीं पहुंचे, जिसके बाद परिजनों ने खोजबीन की तो नाला के स्टापडेम के पास एक बालक की चप्पल पड़ी हुईं मिलीं। वहीं गुरुवार को मडियादो गांव में 4 साल का बच्चा क्रिस खेलते हुए सेफ्टी टैंक में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गई।

 

जानकारी के अनुसार कुंवरपुर निवासी रामकृष्ण पिता बालकृष्ण सरवरिया (11) एवं राजा पिता अवधबिहारी सरवरिया (11) दोनों चचेरे भाई थे और बुधवार की सुबह 10 बजे बारिश के बीच घर पर बिना बताए गांव के पास ही जूड़ी नाला पर बने स्टापडेम के पास गए। जहां पर उनकी डूबने से मौत हो गई। वहां वे किस तरह डूबे या फिर डूबने का कारण क्या है, इसके बारे में किसी को कुछ पता नहीं लगा है। बताया जाता है कि वे डेम में भरे पानी और कीचड़ में फंस गए थे। जिससे उनकी डूबने से मौत हो गई। बच्चों के करीब 2 घंटे तक घर वापस न पहुंचने पर परिजनों द्वारा तलाश की गई तो डेम किनारे एक बच्चे राजा की चप्पल पड़ी हुईं मिलीं। 

 

स्थानीय लोगों ने उन्हें ढूंढने के प्रयास किया और वह कुछ समय बाद दोनों पानी में डूबे हुए मिले। जिन्हें आनन-फानन में हटा सिविल अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी लगते ही हटा पुलिस एसआई संजू सैयाम, एएसआई बीएम चौबे ने अस्पताल पहुंचकर शव का पंचनामा बनाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। और घटनाक्रम की जांच शुरू कर दी गई है। 

 

पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए। घटना की जानकारी लगते ही कुंवरपुर सहित आसपास के इलाके में शौक का माहौल देखा गया। इधर सूचना मिलने पर दमोह विधायक राहुल सिंह भी पहुंचे और परिजनों को ढ़ांढस बधाया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना