--Advertisement--

ईवीएम विवाद / हाईकोर्ट में सुनवाई पूरी, सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित



Hearing in High Court in EVM case
X
Hearing in High Court in EVM case

  • 5 जिलों में ईवीएम मशीनों से जुड़ी गड़बड़ियों के मामले में हुई थी पहली पेशी
  • याचिकाकर्ता ने कोर्ट से एसआईटी गठित कर जांच कराने की मांग की

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 12:34 AM IST

जबलपुर. प्रदेश में विधानसभा चुनाव में 5 जिलों में ईवीएम मशीनों से जुड़ी गड़बड़ियों के मामले में गुरुवार को पहली ही पेशी में सुनवाई पूरी हो गई। चीफ जस्टिस एसके सेठ और जस्टिस विजय शुक्ला की खंडपीठ ने सभी पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा है।

 

 मप्र कांग्रेस कमेटी के महासचिव नरेश सराफ ने हाईकोर्ट याचिका दायर कर कहा है कि मतदान के बाद ईवीएम मशीनों के प्रबंधन में व्यापक स्तर पर गड़बड़ियां हुई हैं। गड़बड़ियों से साफ है कि निर्वाचन आयोग सतना, भोपाल, सागर, शाजापुर और खंडवा में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव करवाने में विफल रहा है।

 

याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता शशांक शेखर ने कोर्ट से मांग की कि हाईकोर्ट अपनी निगरानी में एसआईटी गठित करे और जांच कर दोषी अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए जाएं। चुनाव आयोग की ओर से अधिवक्ता सिद्धार्थ सेठ ने कहा कि याचिकाकर्ता ने व्यक्तिगत हैसियत से याचिका दायर की है, जिसका चुनाव से कोई सीधा संबंध ही नहीं है।

 

उन्होंने यह भी कहा कि जिन ईवीएम की बात कही गई है वो मतदान वाली नहीं, बल्कि रिजर्व मशीनें थीं। चुनाव में कोई गड़बड़ी नहीं हुई।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..