दमोह / पति ने छुए पत्नी के पैर, हाथ जोड़कर घर चलने किया राजी

दमोह। पत्नी के पैर छूकर हाथ जोड़कर साथ चलने के लिए राजी करता पति। दमोह। पत्नी के पैर छूकर हाथ जोड़कर साथ चलने के लिए राजी करता पति।
X
दमोह। पत्नी के पैर छूकर हाथ जोड़कर साथ चलने के लिए राजी करता पति।दमोह। पत्नी के पैर छूकर हाथ जोड़कर साथ चलने के लिए राजी करता पति।

  • परिवार परामर्श केंद्र पति और पत्नी के बीच चल रहे विवादों के प्रकरणों में की गई सुनवाई

दैनिक भास्कर

Dec 08, 2019, 04:12 PM IST

दमोह। जिला जेल के सामने पुराने पुलिस कंट्रोल रूम में परिवार परामर्श केंद्र में शनिवार को पति-पत्नी के बीच चल रहे विवादों के प्रकरणों में सुनवाई की गई। इस दौरान एक प्रकरण में पति ने अपनी पत्नी के पैर छूकर हाथ जोड़ो और साथ चलने के लिए राजी किया। इस दौरान तिंदोनी निवासी दंपती के प्रकरण में सुनवाई की गई। आपसी विवाद के चलते करीब दो माह से पत्नी अपने मायके में रह रही थी, उनकी पांच संतानें हैं। एक छोटा बेटा है।

परामर्श केंद्र में पत्नी अपनी बेटे के साथ पहुंची थी, जहां काउंसलरों द्वारा सुनवाई के बाद दोनों को साथ रहने पर राजी किया गया, लेकिन पत्नी साथ जाने से मना कर रही थी। पति ने अपनी पत्नी के सभी के सामने पैर छुए और हाथ जोड़कर उसे साथ चलने के लिए तैयार किया। पत्नी की गोद से बच्चे को लेकर अपनी गोद में लिया। पति की मिन्नत के बाद पत्नी साथ जाने को तैयार हो गई।


परिवार के वरिष्ठजनों का दखल व एक-दूसरे पर शक के चलते दूरियां बन गईं थी, फिर एक होंगे
वहीं दूसरा प्रकरण विदिशा निवासी वकील का था, जिसमें पति पत्नी लॉ की पढ़ाई किए हुए है और पति पेशे से वकील है, लेकिन दोनों के बीच परिवार के वरिष्ठजनों का दखल और एक-दूसरे के प्रति शक के चलते दूरियां बन गईं। पत्नी के बार-बार बिना अनुमति के मायके आना, पति को पसंद नहीं था तो पत्नी को अपने ससुर की बिना अनुमति के कुछ नहीं कर पाना पसंद नहीं था।

काफी समझाइश के बाद दोनों को साथ रहने पर राजी किया गया, लेकिन पत्नी की शर्त थी उसके घर पर आकर ससुर उसे अपने साथ ससुराल लेकर जाएं। इस दौरान काउंसलर डाॅ. प्रेमलता नीलम, डॉ. केके ताम्रकार, प्रभारी जमुनी दुबे, नर्मदा कोरी, आरक्षक हरवंश मिश्रा, सैनिक सलीम की उपस्थिति रही। सुनवाई के लिए कुल 19 प्रकरण रखे गए थे, जिसमें अधिकांश प्रकरणों में सुलह कराई गई। कुछ प्रकरणों को न्यायालय में जाने सलाह दी गई कुछ में एक ही पक्ष उपस्थित होने पर आगामी तारीख सुनवाई के लिए दी गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना