मध्य प्रदेश / जबलपुर से उड़े सेना के बैलून का ईंधन खत्म हुआ; इमरजेंसी लैंडिंग, देखने के लिए लोगों की भीड़ लगी

जबेरा के समीप कटीली बरगा की झाड़ियों के पास खेत में उतरा बैलून और उसमें सवार सूबेदार राजेश कुमार।
बैलून में सवार सूबेदार से बातचीत करते जबेरा थाने में पदस्थ उप निरीक्षक एमपी सिंह। बैलून में सवार सूबेदार से बातचीत करते जबेरा थाने में पदस्थ उप निरीक्षक एमपी सिंह।
खेत के पास उतरे बैलून के पास जमा ग्रामीण। खेत के पास उतरे बैलून के पास जमा ग्रामीण।
X
बैलून में सवार सूबेदार से बातचीत करते जबेरा थाने में पदस्थ उप निरीक्षक एमपी सिंह।बैलून में सवार सूबेदार से बातचीत करते जबेरा थाने में पदस्थ उप निरीक्षक एमपी सिंह।
खेत के पास उतरे बैलून के पास जमा ग्रामीण।खेत के पास उतरे बैलून के पास जमा ग्रामीण।

  • जबलपुर के आर्मी ट्रेंनिग सेंटर से रेंज चेक करने के लिए आर्मी ने उड़ाया था गुब्बारा
  • जबेरा के समीपी ग्राम दुगानी-भिनेनी की भटरिया में कराई लैंडिंग, पहले दहशत में दिखे, फिर रोमांचित हुए ग्रामीण

दैनिक भास्कर

Feb 22, 2020, 06:02 PM IST

जबेरा/दमोह। जबलपुर के आर्मी ट्रेंनिग सेंटर से शनिवार को 80 फीट लंबा बैलून जबेरा के समीप कटीली बरगा की झाड़ियों के पास खेतों में उतारा गया। उसका ईंधन खत्म हो गया था। इसे देख अफरा-तफरी मच गई, पहले ग्रामीण दहशत में आ गए, लेकिन जब उन्हें हकीकत पता चली तो रोमांचित हो गए। उन्होंने बैलून और पायलट को कई बार छूकर देखा। 

हालांकि, बैलून को उतरता देखकर युवा दौड़कर बैलून के पास पहुंचे और आर्मी के जवानों के द्वारा रस्सा फेंककर बैलून को पुनः सुरक्षित स्थान पर उतारने के लिए गुब्बारे को उड़ाया। युवाओं ने रस्सा खींचकर सुरक्षित स्थान पर लैंडिंग करवाई। दरअसल, यह हॉट एयर बैलून आर्मी एडवेंचर नोडल सेंटर जबलपुर का था और रिहर्सल के लिए उड़ाया जा रहा था। इससे पहले कटंगी में बैलून उतारा जा रहा था, लेकिन गुरुवार को रेंज बढ़कर उसे आगे बढ़ाया गया और जबेरा से ज्यादा दूर होने पर उसका ईधन खत्म हो गया। इस बीच उसकी इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई।


जबेरा में ग्रामीण युवाओं ने लैंडिंग कराने के लिए सेना की मदद की
बैलून में सवार सूबेदार राजेश कुमार ने बताया कि रेंज चेक करने के लिए जबलपुर से बैलून उड़ाया गया था, जिसकी निगरानी करने के लिए आर्मी के जवानों का वाहन बैलून के पीछे दौड़ रहा था। मगर जबेरा के समीपी गांव दुगानी भिनेनी के मैदान पर बैलून का ईंधन खत्म हो गया। इसके पहले बैलून की रेंज टेस्टिंग के लिए कटंगी तक उड़ाकर वापस कर लिया जाता था, लेकिन रेंज चेक करने कटंगी से आगे तक उड़ाया गया यह ट्रेनिंग का एक हिस्सा था जो सफलतापूर्वक किया गया। इस अवसर पर सेना के जवान विपिन, हितेश और अरुण बैलून में मौजूद थे। बाद में सभी सेना के वाहन से जबलपुर रवाना हो गए। इस बीच ग्रामीणों ने जवानों को चाय-नाश्ता कराया। भारतीय सेना की हौसला अफजाई की।

  • जबेरा थाने में पदस्थ उप निरीक्षक एमपी सिंह ने बताया कि आर्मी का बैलून उतरने की सूचना मिलते ही पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचा तो बैलून मैं मौजूद सूबेदार ने बताया कि बैलून की रेंज चेक करने के लिए जबलपुर से उड़ाया गया था, बैलून का ईधन खत्म हो गया था। टेस्टिंग सफल रही। कोई आपातकाल जैसी स्थिति नहीं थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना