नौगांव / माता-पिता की मौत से अनाथ हुई 5 वर्षीय बच्ची को डॉक्टर दंपती ने गोद लेकर दिया नया जीवन



mp news
X
mp news

Dainik Bhaskar

Sep 03, 2019, 03:06 PM IST

नौगांव। माता-पिता की मौत के बाद अनाथ हुई अबोध बच्ची को नगर के डॉक्टर दंपत्ति ने गोद लेकर उसके लालन-पालन, शिक्षा दीक्षा और शादी करने का जिम्मा लिया है। नगर के गणेश मंदिर चौराहे पर रहने वाले रिटायर्ड डॉ. प्रदीप अग्रवाल और उनकी धर्मपत्नी इंदु अग्रवाल ने सोमवार दोपहर अपने घर पर एक सामजिक समिति की अध्यक्ष तृप्ति कठेल के सहयोग से पिछले वर्ष माता-पिता की मौत के बाद अनाथ हुई 5 वर्षीय बेटी अंजली बरार को गोद लिया। 

 

शोभादेवी सामाजिक सेवा समिति की अध्यक्ष तृप्ति कठेल ने बताया कि नगर से लगे बिलहरी गांव में दलित परिवार के छोटेलाल बरार के 32 वर्षीय पुत्र परमलाल की केंसर के कारण मौत हो गई थी। पति की मौत के कुछ समय बाद पत्नी सुमन ने डाई पीकर आत्महत्या कर ली थी। उनके बच्चे वेद 7 वर्ष, अंजली 5 वर्ष व ऋतिक 2 वर्ष अनाथ हो गए। तीनों बच्चे अपने दादा-दादी और चाचा-चाची के साथ रहने लगे थे। 

 

माता-पिता की मौत के बाद उन्हें मिलने वाला सरकारी खाद्यान्न मिलना बंद हो गया। इससे उनके लालन-पालन में कठिनाई होने लगी। शोभा देवी समिति उनका सहयोग करती रही। समिति ने सरस्वती शिशु मंदिर के अध्यक्ष डाॅक्टर प्रदीप अग्रवाल और उनकी पत्नी इंदु अग्रवाल को अवगत कराया। जिस पर डाॅक्टर दंपत्ति ने अंजली को गोद लेने की इच्छा प्रकट की। उन्होंने समिति के सदस्यों के समक्ष बच्ची को गोद लिया। 


उन्हें दिल से खुशी हो रही है 
डाॅक्टर प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि इस बच्ची को गोद लेने के बाद दिल से ख़ुशी हो रही है। इसके अलावा अगर कोई और बच्चे भी पढ़ना चाहते हैं अाैर उनके सामने आर्थिक संकट है तो निःसंकोच उनसे संपर्क करें। सरस्वती शिशु मंदिर में प्रवेश लेकर शिक्षा प्राप्त करें उसका पूरा खर्च वह उठाएंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना