आरोप / पहले जीतू पटवारी के इशारे पर किया खिलाड़ियों का चयन, विरोध हुआ तो छतरपुर के खिलाड़ियों को नहीं दिया मौका



mp news Players charged on sports minister Jitu Patwari
X
mp news Players charged on sports minister Jitu Patwari

  • इंदौर में चल रहा 33वां राष्ट्रीय सीनियर बेसबॉल टूर्नामेंट

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 01:26 PM IST

छतरपुर। इंदौर में 33वीं राष्ट्रीय सीनियर बेसबॉल टूर्नामेंट का आयोजन चल रहा है। इस प्रतियोगिता के लिए खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित इस प्रतियोगिता में खेल मंत्री जीतू पटवारी की सिफारिश पर अच्छे खिलाडिय़ों का नाम हटाकर मनमाने नाम जोड़े गए। इसका विरोध हुआ तो बेसबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष और सचिव के इशारे पर छतरपुर से गए खिलाड़ियों को मैदान पर ही नहीं उतारा गया। सिफारिश के आधार पर चयन होने से जो खिलाड़ी अच्छा खेलते हैं, वे मैदान के बाहर बैठे हैं और जिनका प्रदर्शन अच्छा नहीं वे खेल मैदान में खेलते हुए दिखाई दिए। 

 

कोच ने लगाए आरोप:  इंदौर में हो रही प्रतियोगिता खेल व युवा कल्याण विभाग द्वारा आयोजित 33 वीं राष्ट्रीय सीनियर - टूर्नामेंट का आयोजन 12 जनवरी से 17 तक इंदौर में किया जा रहा है। जिसमें इंदौर सहित प्रदेश के 6 जिलों में खेले जाने वाली बेसबॉल के खिलाड़ियों का चयन नेताओं के इशारे पर किया गया। इस चयन प्रक्रिया का विरोध करते हुए शिक्षा विभाग में बेसबॉल के जिला कोच मानसिंह ने बताया कि इस प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए छतरपुर जिले के 6 बेसबॉल खिलाड़ियों को बुलाया गया। इन खिलाड़ियों में आकांक्षा यादव का नाम था। आकांक्षा यादव तैयार होकर बस में भी पहुंच गई। पर बाद में आकांक्षा के स्थान पर एक अन्य खिलाड़ी कामिनी यादव का नाम सूची में जोड़ दिया गया। कोच मान सिंह का कहना है कि आकांक्षा नंबर एक खिलाड़ी है। उसका चयन होना चाहिए था। 

 

ड्रेस भी नहीं दी: आकांक्षा का नाम बाहर करने का मामला उठने के बाद टूर्नामेंट में छतरपुर से चयनित होकर इंदौर खेलने गए खिलाड़ियों को मैदान में उतारा ही नहीं गया। सभी खिलाड़ी बाहर ही बैठे रहे। कोच श्री सिंह ने बताया कि छतरपुर के राष्ट्रीय खिलाड़ी सनत नागर, प्रीती सिंह और कामनी यादव का चयन इस प्रतियोगिता के लिए एसोसिएशन द्वारा किया गया है। पर दो दिन का खेल खत्म होने के बाद भी सभी खिलाड़ी मैदान के बाहर बैठे रहे हैं। इसके साथ ही राष्ट्रीय खिलाड़ी आकांक्षा यादव भी खेल मैदान के बार बैठकर खेल देख रही है। सनत को एसोसिएशन द्वारा 18 वां स्थान दिया गया है। इसके साथ ही उसे ड्रेस तक नहीं दी गई है। इसी प्रकार का हाल अन्य दो खिलाड़ियों का है। 


आकांक्षा ने मंत्री और पूर्व मंत्री पर लगाए आरोप: इस संबंध में आकांक्षा का आरोप है कि उसका नाम पूर्व मंत्री ललिता यादव के कहने पर मंत्री जीतू पटवारी ने कटवा दिया है। मंत्री ने एसोसिएशन सचिव जसराज मेहता को फोन करके कामनी यादव का नाम जोड़ने के लिए निर्देश दिए। इस कारण से उसका नाम काटा गया है। आकांक्षा का आरोप है कि कामनी, पूर्व मंत्री ललिता यादव की रिश्तेदार है इसलिए उन्हाेंने सिफारिश की है। इस मामले में पूर्व मंत्री ललिता यादव का कहना है कि उनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं है। न उनकी सरकार है न ही उन्होंने किसी की सिफारिश की है। कामनी से उनकी कोई रिश्तेदारी भी नहीं है। सारे आरोप निराधार हैं। 

 

COMMENT