मप्र / गुड़गांव से युवती को उसके घर असम भेजने का लालच देकर दमोह लाए; फिर 2 बच्चों के पिता से करा दी शादी

Dainik Bhaskar

Mar 26, 2019, 12:52 PM IST



mp news woman from gurugram haryana duped forcefully married to a father of 2 in damoh mp
X
mp news woman from gurugram haryana duped forcefully married to a father of 2 in damoh mp
  • comment

  • पति के जुल्मों से परेशान हो पीड़िता थाने पहुंची
  • वन स्टाप सेंटर में हो रही महिला की काउंसलिंग

दमोह। असम की युवती को दमोह लाकर उसका जबरन शादीशुदा लड़के से विवाह कराने के बाद खाना न देने और प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है। पति-सास और ससुर से प्रताड़ित युवती रविवार की देर रात दमोह पहुंची और सुबह एसपी को अवगत कराया। युवती को वन स्टाप सेंटर में रखा गया है जहां उसके परिजनों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। युवती असम जाना चाहती है।

 

एसपी कार्यालय में दी शिकायत में युवती ने बताया कि वह आसाम के सुनीत पुर थाना सौतिया के इटा खुला निवासी है। तीन साल पहले गुड़गांव में काम करने के दौरान उसे दमोह जिले के बटियागढ़ के भटेरा निवासी हरिराम बलखंडे, बंसल आर उसकी पत्नी संझौली बहू अपने साथ यह कहकर लाए थे कि तुम्हें असम भिजवा देंगे। कुछ दिन रुकने के बाद हरिराम ने दवाब बनाया और अपने शादीशुदा लड़के मनोज बंसल से मंदिर में शादी करा ली जबकि मनोज के दो बच्चे हैं और मनोज ने अपनी पहली पत्नी को भगा दिया था। 


शादी के बाद पति करने लगा प्रताड़ित: युवती ने बताया कि शादी के तीन माह बाद से मनोज प्रताड़ित करने लगा और खाने नहीं देता। घर से बाहर भी नहीं निकलने देता। कई बार विवाद होने पर उसने बटियागढ़ थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई। लेकिन भाषा की समस्या होने के चलते पुलिस ने सही कार्रवाई नहीं की। युवती को 2017 में बटियागढ़ लाया गया था और तीन साल से पत्नी में रूप में रह रही थी।
 

पूछताछ के बाद एफआईआर दर्ज होगी : कई दिनों से प्रताड़ित होने के बाद महिला रात में भागकर दमोह पहुंची और उसने शिकायत दर्ज कराई है। महिला को जिला अस्पताल के वन स्टाप सेंटर में रखा गया है जहां उसकी काउंसिलिंग की जा रही है। इस संबंध में महिला सशक्तिकरण अधिकारी संजीव मिश्रा का कहना है कि मंगलवार को पूछताछ होगी और पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। फिलहाल परिजनों से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। 


खाना खाने नहीं देता, भाई को भी बंधक बना लिया 
वन स्टॉप सेंटर में पीडि़ता ने भास्कर को बताया कि मनेाज खाना खाने नहीं देता था। चोरी-छिपे यदि खाना खा भी लेते हैं तो वह मुंह में लात मारता है। एक बार उसकी प्रताड़ना से तंग आकर मैं आसाम चली गई थी, मगर हरिराम फिर से वहां पहुंचा और समझा बुझाकर मुझे साथ ले आया। इस बीच वो अपने 9 साल छोटे भाई को लेकर भी बटियागढ़ आई थी, मगर पति का व्यवहार नहीं बदला। इसलिए अब वह साथ रहना नहीं चाहती है। उसका भाई भी सास मंझली बहू अपने पास रखे हुई हैं। पीडि़ता ने एसपी को दिए पत्र में लिखा है कि उसे और उसके भाई को ससुराल के चंगुल से मुक्त कराकर वापस आसाम भेज दिया जाए। 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन