सागर / 108 की एसओपी नहीं दी, अब राज्य सूचना आयोग का एनएचएम के लोक सूचना अधिकारी को नोटिस



notice
X
notice

  • कार्रवाई इससे पहले आयोग एनएचएम के उपसंचालक पर लगा चुका है 25 हजार रु. का जुर्माना

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 05:30 PM IST

सागर। सूचना के अधिकार के तहत 108 एंबुलेंस की स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जानकारी नहीं देने पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के उपसंचालक पर जुर्माना लगाने के बाद राज्य सूचना आयोग ने अब एनएचएम के लोक सूचना अधिकारी वर्षा भूरिया को नोटिस जारी किया है।

 

आयोग के मुख्य सूचना आयुक्त एके शुक्ला ने भूरिया तथा उपसंचालक रैफरल ट्रांसपोर्ट सेवा डॉ. दुर्गेश गौड़ को 18 दिसंबर को व्यक्तिगत रूप से तलब किया है।

 

108 एंबुलेंस कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष रामस्वरूप परमार ने 1 फरवरी 2019 को सूचना के अधिकार के तहत एनएचएम से 108 एंबुलेंस सेवा की एसओपी की प्रमाणित प्रति मांगी थी। लेकिन एनएचएम ने यह जानकारी आज तक नहीं दी। इस पर परमार ने आयोग में द्वितीय अपील पेश कर जानकारी नहीं देने की शिकायत की। 


आयोग ने सुनवाई के दौरान पाया कि लोक सूचना अधिकारी ने परमार को 1 अक्टूबर को पत्र लिखकर अभिलेख का अवलोकन करने की सूचना दी। जबकि विभाग के पास सूचना तैयार ही नहीं है। जाहिर है लोक सूचना अधिकारी ने परमार को भ्रामक पत्र जारी किया है। आयोग ने माना कि इससे अपीलार्थी का समय और धन अनावश्यक व्यय हुआ है। इस पर आयोग ने एनएचएम के संचालक को कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं।


साथ ही जानकारी देने में लापरवाही बरतने पर तत्कालीन लोक सूचना अधिकारी और वर्तमान लोक सूचना वर्षा भूरिया को नोटिस जारी कर 18 दिसंबर को आयोग में तलब किया है। इस सुनवाई में जानकारी नहीं देने पर उक्त अधिकारियों पर कार्रवाई व जुर्माना तय हो सकता है।


कॉल सेंटर की जानकारी नहीं देने पर हो चुका है जुर्माना
एक अन्य मामले में 108 के कॉल सेंटर के संबंध में जानकारी नहीं देने पर आयोग पिछले दिनों एनएचएम की रैफरल ट्रांसपोर्ट शाखा के उपसंचालक डॉ. दुर्गेश गौड़ पर 25 हजार रुपए जुर्माना कर चुका है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना