मध्यप्रदेश / छिंदवाड़ा में 100 एकड़ में विकसित किया जा रहा है ऑर्किड पार्क

Orchid Park is being developed in 100 acres at Chhindwara.
X
Orchid Park is being developed in 100 acres at Chhindwara.

  • छिंदवाड़ा को मिलेगी नई पहचान, आर्किड पार्क में गुलाब, रजनीगंधा और जरबेरा आदि फूलों का उत्पादन होगा
  • योजना में किसानों को लीज पर जमीन दी जाएगी, उनका निकटतम बिक्री केंद्र नागपुर महानगर रहेगा, 

दैनिक भास्कर

Aug 06, 2019, 05:40 PM IST

छिंदवाड़ा. उद्यानिकी विभाग छिंदवाड़ा जिले में करीब 100 एकड़ में आर्किड पार्क विकसित कर रहा है। जिसमें युवा पाली हाउस विकसित करेंगे। जानकारी के मुताबिक पार्क के लिए जमीन चिन्हित कर ली गयी है। पार्क में फूलों की खेती (फ्लोरी कल्चर) से जिले को नई पहचान मिलेगी।

 

योजना में किसानों को लीज पर जमीन दी जाएगी। साथ ही फूलों की खेती का प्रशिक्षण भी दिया जाएगी। पार्क में मुख्य रूप से गुलाब, रजनीगंधा और जरबेरा आदि फूलों का उत्पादन होगा। उनका निकटतम बिक्री केंद्र नागपुर महानगर रहेगा। भविष्य में उत्पादन वृद्धि के बाद इस अंचल के फूल विदेशों तक भेजने के प्रयास किये जाएंगे।

 

काजू की खेती की संभावनाओं पर स्टडी

उद्यानिकी विभाग ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर ग्राम कोहट रैयत में 100 एकड़ भूमि आवंटन के लिए पहल की है। भारत सरकार के एक दल ने हाल ही में छिंदवाड़ा जिले में काजू की खेती की संभावनाओं का पता लगाने के लिए भी अध्ययन दौरा किया। यहां पारम्परिक कृषि के साथ ही फलों और सूखे मेवों की खेती के लिए जरूरी व्यवस्थाओं की कोशिश की जा रही है।

 

आर्किड पार्क बनने से किसानों की संख्या बढ़ेगी 

छिंदवाड़ा जिले के आदिवासी अंचल मैनीखापा के युवाओं को भी फूलों की खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। आर्किड पार्क के विकसित होने से किसानों की संख्या में वृद्धि होगी। जिला प्रशासन आवश्यक अधोसंरचना का विकास भी करेगा। किसानों को आर्किड पार्क में भूमि लीज पर देने के साथ ही सिंचाई के लिये पर्याप्त जल और आवश्यकता के मुताबिक विद्युत सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी।

 

कृषकों को उद्यानिकी विशेषज्ञ न सिर्फ प्रशिक्षण देंगे बल्कि उन्हें फूलों की खेती के लिये विशेष रूप से अनुकूल तापमान, सिंचाई, उत्पादन और विपणन कार्य के लिये मार्गदर्शन भी देंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना