मप्र / आज छतरपुर पहुंचेगा प्रज्ञा का शव, एशिया वन कंपनी पटोंग से लाकर दिल्ली में परिजनों को सौंपेगी



प्रज्ञा पालीवाल प्रज्ञा पालीवाल
X
प्रज्ञा पालीवालप्रज्ञा पालीवाल

  • मप्र सरकार ने शुक्रवार को 85 हजार थाईबाथ (थाइलैंड की मुद्रा) का भुगतान एशिया वन कंपनी को कर दिया है

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 10:40 AM IST

छतरपुर। थाइलैंड के फुकेट प्रांत के पटोंग शहर में हादसे में जान गंवाने वाली छतरपुर की प्रज्ञा पालीवाल का शव लाने में मप्र सरकार और भारत सरकार लगातार सहयोग कर रही हैं। इस कारण परिजनों को थाइलैंड जाना नहीं पड़ा है। बैंकाक दूतावास ने एक निजी कंपनी एशियावन के सेवाएं लेकर शव को भारत लाने की सारी तैयारियां पूरी कर दी हैं।

 

कंपनी को उसकी सेवाओं के एवज में मप्र सरकार ने शुक्रवार को 85 हजार थाईबाथ (करीब 1.98 लाख भारतीय रुपए) का भुगतान कर दिया है। इसके साथ ही दिल्ली से छतरपुर तक शव लाने के लिए एंबुलेंस का इंतजाम भी मप्र सरकार ने कर दिया है।


छतरपुर के सीताराम कॉलोनी में रहने वाले शिक्षक शिवकुमार पालीवाल की बेटी प्रज्ञा पालिवाल एक सेमीनार में शामिल होने के लिए थाइलैंड गई थी। वहां वह 6 साथियों के साथ फुकेट प्रांत के समुद्र तटीय नगर पटोंग में घूमने के लिए पहुंचे। बुधवार की रात बीच से होटल के लिए लौटते समय सड़क हादसे में प्रज्ञा पालिवाल की मौत हो गई थी। इस हादसे में एक अन्य युवक नीतेश मिश्रा भी घायल हुआ है। प्रज्ञा के पिता और भाइयों में किसी का भी पासपोर्ट नहीं था। इस कारण छतरपुर के जनप्रतिनिधि उनकी मदद के लिए सामने आए।


दिल्ली में एंबुलेंस तैयार
विधायक आलोक चतुर्वेदी ने बताया कि मप्र सरकार को उन्होंने जब इस मामले की सूचना दी तो मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसे गंभीरता से लिया। सरकार शव को थाइलैंड से छतरपुर तक लाने का पूरा खर्च उठा रही है। पीड़ित परिवार के दो सदस्य दीपक और शशि प्रकाश पालिवाल दिल्ली पहुंच गए हैं। दीपक ने बताया कि वे एशियावन कंपनी के अधिकारियों के संपर्क में है। बैंकाक में भारतीय दूतावास की मदद से थाइलैंड सरकार ने एशियावन कंपनी को शव सौंपने की सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। कंपनी शनिवार सुबह तक शव लेकर दिल्ली आ जाएगी। कंपनी प्रज्ञा के भाई दीपक को शव सौंपेगी। दीपक ने बताया कि दिल्ली में मप्र सरकार के अधिकारियों ने एंबुलेंस का भी इंतजाम करा दिया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना