दमोह में ऑटो चालक ने किशोरी को जान से मारने की धमकी देकर की ज्यादती

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भोपाल से पेपर देकर लौटी पीड़िता
  • आरोपी ने दी जान से मारने की धमकी

दमोह।  रेलवे स्टेशन परिसर में बुधवार की रात एक बजे आटो चालक सद्दाम पठान ने टॉयलेट गई किशोरी का पीछा किया और उसे जान से मारने की धमकी देकर परिसर में बने एक निमार्णाधीन कक्ष में ज्यादती की। पीड़ित अपने ममेरी बहन और भाई के साथ भोपाल पेपर देने गईं थीं, रात ज्यादा होने पर स्टेशन परिसर में ही सो रही थीं। इस बीच सद्दाम पठान ने वारदात को अंजाम दिया।   


जीआरपी चौकी प्रभारी बृजेंद्र सिंह परिहार ने बताया तेंदूखेड़ा तारादेही क्षेत्र की दो लड़की व उसका भाई परीक्षा देने के लिए भोपाल गईं थीं, जो यहां रुक गई थीं। रात करीब एक बजे किशोरी कुरकुरे लेने स्टेशन के बाहर गईं थी। इस बीच चालक ने उसे ताड़ लिया और जब वह कुरकुरे लेकर पुन: प्रतीक्षालय में आकर बैठ गईं, तो रात होने के कारण उसका भाई व मामा की बहन की झपकी लगी गई। 


ऐसे लिया झांसे में: इसी बीच उसके पीछे से आटो चालक सद्दाम आया और उसके बाजू में बैठ गया। इस बीच उसने लड़की का नाम पूछा और बातचीत करने लगा। करीब आधा घंटे बाद लड़की बाथरूम के लिए स्टेशन परिसर के बाहर अंधेरे में गई, तa आरोपी सद्दाम भी वहां पहुंच गया और उसने अंधेरा होने के कारण जान से मारने की धमकी देकर उसे उठाकर सुलभ कॉम्प्लेक्स के बाजू से रेलवे के नए क्वार्टर में ले गया जहां उसने ज्यादती की। 


भाई की आंख खुली तो किशोरी गायब थी : परिसर में सो रही उसकी मामा की बहन व भाई करीब आधा घंटे बाद जब नींद खुली तो से किशोरी को इधर-उधर खोजते रहे थे। जैसे ही किशोरी प्रतीक्षालय आई तो उसके भाई ने पूछा कि इतनी देर कहां गई थी?  किशोरी रोने लगी और घटना की जानकारी दी।  घटना के बाद भाई सागर जीआरपी थाना ले गया और छात्रा के बयान लेने के बाद उसे सागर लेकर गए, वहां पर एमएलसी कराई। जीआरपी सागर द्वारा आरोपी सद्दाम के विरुद्ध अनुसूचित जाति जनजाति, एवं पास्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।  


पहले से आरोपी पर आप्रकृतिक कृत्य का केस है : पुलिस ने बताया आरोपी सद्दाम पठान ऑटो चालक है। जो स्टेशन से सवारियों को ले जाता है। आरोपी पर एक लड़के के साथ अप्राकृतिक कृत्य किए जाने का भी कोतवाली में मामला दर्ज है। 


दमोह में छह माह में दूसरा मामला : दमोह रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर बने जलसा में जुलाई 2018 में भी ढाई साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया था। जिसमें आरोपी द्वारा बालिका को यात्री प्रतीक्षालय से उठाकर ले गया था और दुष्कर्म किया था। इस घटना ने जिलेवासियों को झकझोरकर रख दिया था। साथ ही यह मामला पूरे देश भर की सुर्खियों में रहा। हालांकि पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपी को तीन दिन में ही पकड़ लिया था। 

खबरें और भी हैं...