फैसला / दुष्कर्म के प्रयास का विरोध करने पर 2 बच्चों की मां को जलाकर मारा था, दोषी व्यक्ति को आजीवन कारावास



sagar
X
sagar

Feb 10, 2019, 11:52 AM IST

सागर। दुष्कर्म का प्रयास करने का विरोध करने पर दो बच्चों की मां को जलाकर मारने वाले व्यक्ति को बंडा के अपर सत्र न्यायाधीश उमाशंकर अग्रवाल ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। घटना पांच साल पहले बंडा थाने के तहत आने वाले पिथौली गांव में हुई थी। 


अपर लाेक अभियोजक आरएन यादव ने बताया कि पिथौली गांव निवासी मीना यादव अपने पति व दो बच्चों के साथ रहती थी। 8 दिसंबर 2014 को उसके दोनों बेटे स्कूल गए थे तथा पति पुरुषोत्तम करीब 5 दिन पहले मजदूरी करने के लिए गया था। दोपहर करीब 1.30 बजे वह घर पर अकेली थी और घर का काम कर रही थी। इसी दौरान गांव का ही आरोपी देवीसिंह पिता महराज सिंह लोधी उसके घर में घुस गया।


 आरोपी ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया। विरोध करने पर पास में ही पड़ा हंसिया उठाकर मार दिया। इससे वह घायल हो गई। इसके बाद घर में रखी मिटटी के तेल की पिकिया उठाकर उसके ऊपर केरोसिन उड़ेल दिया और माचिस से आग लगाकर भाग गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर चालान कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आरोपी देवीसिंह को हत्या का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास और 10 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना