• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • SDPI Instigated Violence In Jabalpur Against CAA NRC; FIR On Organization's State President Irfanul Haque

सीएए के विरोध में जबलपुर में एसडीपीआई ने भड़काई थी हिंसा; संगठन के प्रदेश अध्यक्ष इरफान-उल-हक पर एफआइआर

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष इरफान उल हक पर जबलपुर पुलिस ने हिंसा भड़काने का केस दर्ज किया है। - Dainik Bhaskar
एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष इरफान उल हक पर जबलपुर पुलिस ने हिंसा भड़काने का केस दर्ज किया है।
  • नागरिकता संशोधन कानून की आड़ में जबलपुर में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया था
  • पुलिस पर पथराव किए था, इसमें 12 पुलिस कर्मी जख्मी हुए थे, इसके मास्टरमाइंड का पता चला

जबलपुर. नागरिकता संशोधन कानून के विरोध को लेकर 20 दिसंबर को जबलपुर में हुई हिंसा के मास्टरमाइंड का पुलिस ने उजागर किया है। पुलिस का दावा है कि सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) का प्रदेश अध्यक्ष इरफान-उल-हक अंसारी ने ही भीड़ को उकसाया था, इसके बाद लोगों ने हिंसा की। आरोपी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। जबलपुर राज्य का एकमात्र शहर है, जहां पर प्रदर्शन हिंसात्मक हो गया था। यहां तीन दिन के लिए कर्फ्यू लगाया गया था। 

ये भी पढ़े
जबलपुर में इंटरनेट बंद, परीक्षाएं स्थगित, 4 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी; भोपाल कलेक्टर ने की शांति की अपील
जबलपुर के एसपी अमित सिंह ने बताया कि हिंसा मामले में इरफान को नामजद आरोपी बनाया गया है। उसकी भूमिका की जांच की जा रही है। प्रदर्शन में संगठन के जो भी लोग शामिल होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। 


जबलपुर में प्रदर्शन के बाद 700 लोगों पर क
ेस 
पुलिस ने मामले में अब तक 700 से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। जबलपुर के प्रदर्शन में बड़ी संख्या पुलिस वाले भी जख्मी हुए थे। प्रदर्शनकारियों ने सरकारी संपत्ति और गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचाया था। पुलिस तभी से लगातार प्रदर्शनकारियों की तलाश में जुटी थी। वीडियो और फोटो के आधार पर कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में भी लिया था। 

वीडियो में धन्यवाद करते दिख रहा है आरोपी 
जांच के दौरान पुलिस को एक ऐसा वीडियो दिखा, जिसमें एक शख्स 20 दिसंबर को प्रदर्शन को लेकर प्रदर्शनकारियों को धन्यवाद करता नजर आ रहा है। बताया जा रहा है कि यही इरफान उल हक है, जिसने प्रदर्शनकारियों को भड़काया था। आरोपी इस वीडियो में कह रहा है कि प्रदर्शन सीएए, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ था। अमित शाह लगातार एनआरसी को लेकर पूरे भारत में डरा रहे हैं। इसके विरोध में ये रैली थी। हम तमाम आए हुए लोगों का शुक्रिया अदा करते हैं। पुलिस ने वीडियो हाथ लगते ही एक टीम बनाकर मामले की जांच की। इसके बाद इरफान के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। 

खबरें और भी हैं...