मप्र / पन्ना टाईगर रिजर्व में बाघिन ने दिया तीन शावकों को जन्म, वन प्रबंधन नहीं ले पाया फोटो

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 11:18 AM IST



Tiger Tiger Reserve gives birth to three cubs, forest management can not take photos
Tiger Tiger Reserve gives birth to three cubs, forest management can not take photos
X
Tiger Tiger Reserve gives birth to three cubs, forest management can not take photos
Tiger Tiger Reserve gives birth to three cubs, forest management can not take photos

  • वन प्रबंधन की चिंता: बाघिन के गले में नहीं बंधा है रेडियो कॉलर, हो सकता है खतरा  
  • एक माह से अपने शावकों को लेकर बफर जोन में विचरण कर रही है बाघिन 

पन्ना. पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघ रिहैबिलिटेशन प्रोजेक्ट शुरू होने के बाद से बाघों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। करीब एक महीने पहले बाघिन ने तीन शावकों को जन्म दिया है। इसके साथ ही टाईगर रिजर्व में बाघ और शावकों की संख्या 42 से बढ़कर 45 हो गई है। 

 

लेकिन टाइगर रिजर्व प्रबंधन इसे लेकर चिंतित है। क्योंकि बाघिन के गले में रेडियो कॉलर नहीं बांधा जा सका है। इससे उसकी और शावकों की जान को खतरा हो सकता है। बाघिन एक महीने से अपने शावकों के साथ बफर जोन में विचरण कर रही है, लेकिन टाईगर रिजर्व के कर्मचारी बाघिन का फोटो नहीं ले सके हैं। 

 

सतना में करंट लगाकर किया था बाघ का शिकार 
पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन के अधिकारी-कर्मचारी पन्ना के बाघों की देखरेख में कमी नजर आ रही है, क्योंकि पन्ना जिले के बाघ-बाघिने पन्ना टाईगर रिजर्व की रेंज से बाहर निकल कर विचरण करने निकल जाते हैं और शिकारियों की शिकंजे में फंस जाते हैं। तीन दिन पहले ही एक बाघ का सतना जिले में करंट लगाकर शिकार किया गया है। 

 

टाईगर रिजर्व प्रबंधन की बड़ी चूक 
टाईगर रिजर्व प्रबंधन बाघों की सुरक्षा में बड़ी चूक कर रहा है। एक महीने पहले बाघिन ने तीन शावकों को अमानगंज बफर जोन में जन्म दिया, लेकिन टाईगर रिजर्व के कर्मचारी बाघिन और उसके बच्चों तक नहीं पहुंच पाए हैं और न ही उनके पास फोटो है। जबकि बाघिन कई बार पन्ना अमानगंज रोड़ पर अपने शावकों के साथ विचरण करते देखी गई है।

 

फील्ड डायरेक्टर ने भी माना हमारे पास फोटो नहीं हैं

 

टाईगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर का कहना है कि एक बाघिन ने तीन शावकों को एक महीने पहले जन्म दिया है। पन्ना की अमानगंज बफर जोन में जन्म दिया है, लेकिन इसकी कोई फोटो अभी तक हमारे कर्मचारी नहीं ले पाए, क्योंकि बाघिन रेडियो कॉलर नहीं पहने हुए है। यह बाघिन कई बार पन्ना अमानगंज रोड पर भी लोगों को दिख चुकी है।

केएस भदौरिया (फील्ड डारेक्टर पन्ना टाईगर रिजर्व)

 

COMMENT