Hindi News »Madhya Pradesh »Jaora» चेतावनी दी तो रात को ही दौड़ने लगीं 108 एम्बुलेंस

चेतावनी दी तो रात को ही दौड़ने लगीं 108 एम्बुलेंस

108 एम्बुलेंस के कर्मचारी वेतन में कटौती होने के विरोध में हड़ताल पर चले गए। हड़ताल का सीधा असर जिले की स्वास्थ्य...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 03:30 AM IST

108 एम्बुलेंस के कर्मचारी वेतन में कटौती होने के विरोध में हड़ताल पर चले गए। हड़ताल का सीधा असर जिले की स्वास्थ्य सेवाओं पर रहा। एम्बुलेंस नहीं मिलने से मरीजों को दिनभर परेशानियों का सामना करना पड़ा। गुरुवार देर शाम एम्बुलेंस कर्मचारियों ने कंपनी अधिकारियों को चाबियां देने से मना कर दिया। सीएमएचओ ने एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी दी। इसका असर हुआ और कर्मचारियों ने रात 12 बजे बाद हड़ताल स्थगित कर दी।

108 एम्बुलेंस कर्मचारी संघ अध्यक्ष राहुल गोमे व उपाध्यक्ष वाहिद अहमद ने बताया कर्मचारियों के वेतन में से कंपनी तीन महीने से 1500 से 2000 रुपए कटौती कर रही है। 26 जनवरी को हड़ताल करने का फैसला किया था लेकिन कंपनी ने आश्वासन देकर समझौता कर लिया, उस दौरान कंपनी ने काटे गए रुपए लौटाने की बात कही थी। पुराने रुपए देना तो दूर फरवरी की तनख्वाह भी काट ली। अधिकारियों से शिकायत करते हैं तो वह भी टालमटोल जवाब देते हैं। विरोध में फरवरी में भी हड़ताल की थी लेकिन अधिकारियों के आश्वासन पर खत्म कर दी थी। कर्मचारियों ने ग्वालियर लेबर कोर्ट के आदेशानुसार 8 घंटे ड्यूटी लेने के आदेश का पालन करने की बात कही। फिलहाल त्योहार के मद्देनजर हड़ताल स्थगित की गई है।

अधिकारियों को नहीं सौंपी गाड़ियां

108 एम्बुलेंस का संचालन करने वाली कंपनी जिगित्सा हेल्थ केयर के अधिकारियों ने गुरुवार शाम कर्मचारियों से कंट्रोल रूम पर चर्चा की। टीएल मयंक पांडे ने कर्मचारियों से गाड़ियां हैंडओवर करने का कहा लेकिन कर्मचारियों ने मना कर दिया। अधिकारियों का कहना था कि हमारे पास ऑर्डर है चाबियां तो देना पड़ेंगी। कर्मचारियों ने इस दौरान अपना हक का पैसा मांगने की बात कही। जिलाध्यक्ष राहुल गोमे, हेमंत पांचाल, गोपाल तिवारी, शेर मोहम्मद, अजय पचलासिया, मधुसूदन प्रजापति आदि मौजूद थे।

जिले की 11 एम्बुलेंस बंद रहीं, जननी से पहुंचे मरीज

रतलाम जिले में 11 एम्बुलेंस हैं। इनमें जिला अस्पताल में 2, जावरा में 1, ढोढर में 1, ताल में 1, आलोट 1, पिपलौदा 1, सैलाना 1, नामली 1, बिलपांक 1, रावटी 1 एम्बुलेंस है। गुरुवार को सभी एम्बुलेंस बंद होने से मरीजों को 100 डायल व जननी एक्सप्रेस का सहारा लेना पड़ा। कई मरीजों को यह भी नहीं मिली।

भास्कर संवाददाता|। रतलाम

108 एम्बुलेंस के कर्मचारी वेतन में कटौती होने के विरोध में हड़ताल पर चले गए। हड़ताल का सीधा असर जिले की स्वास्थ्य सेवाओं पर रहा। एम्बुलेंस नहीं मिलने से मरीजों को दिनभर परेशानियों का सामना करना पड़ा। गुरुवार देर शाम एम्बुलेंस कर्मचारियों ने कंपनी अधिकारियों को चाबियां देने से मना कर दिया। सीएमएचओ ने एफआईआर दर्ज करवाने की चेतावनी दी। इसका असर हुआ और कर्मचारियों ने रात 12 बजे बाद हड़ताल स्थगित कर दी।

108 एम्बुलेंस कर्मचारी संघ अध्यक्ष राहुल गोमे व उपाध्यक्ष वाहिद अहमद ने बताया कर्मचारियों के वेतन में से कंपनी तीन महीने से 1500 से 2000 रुपए कटौती कर रही है। 26 जनवरी को हड़ताल करने का फैसला किया था लेकिन कंपनी ने आश्वासन देकर समझौता कर लिया, उस दौरान कंपनी ने काटे गए रुपए लौटाने की बात कही थी। पुराने रुपए देना तो दूर फरवरी की तनख्वाह भी काट ली। अधिकारियों से शिकायत करते हैं तो वह भी टालमटोल जवाब देते हैं। विरोध में फरवरी में भी हड़ताल की थी लेकिन अधिकारियों के आश्वासन पर खत्म कर दी थी। कर्मचारियों ने ग्वालियर लेबर कोर्ट के आदेशानुसार 8 घंटे ड्यूटी लेने के आदेश का पालन करने की बात कही। फिलहाल त्योहार के मद्देनजर हड़ताल स्थगित की गई है।

स्वास्थ्य सेवाओं पर नहीं पड़ने देंगे कोई असर

स्वास्थ्य सेवाओं पर किसी भी तरह का असर नहीं पड़ने दिया जाएगा। हमारे पास शासकीय ड्राइवरों की टीम है। हमने ड्राइवरों से चाबियां ले ली हैं। इस संबंध में एसपी अमित सिंह को भी पत्र लिखा है। जिन ड्राइवरों ने चाबियां हैंडओवर नहीं की है, शुक्रवार को एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। डॉ. प्रभाकर ननावरे, सीएमएचओ

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaora News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: चेतावनी दी तो रात को ही दौड़ने लगीं 108 एम्बुलेंस
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jaora

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×