• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Jaora
  • मंजूरी राज्य शासन के बजट में रतलाम को मिलीं कई सुविधाएं
--Advertisement--

मंजूरी राज्य शासन के बजट में रतलाम को मिलीं कई सुविधाएं

बंजली स्थित मेडिकल कॉलेज में जुलाई 2018 से पहली बैच प्रारंभ करने के लिए राज्य सरकार ने 110 करोड़ रुपए और मंजूर किए हैं।...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:10 AM IST
बंजली स्थित मेडिकल कॉलेज में जुलाई 2018 से पहली बैच प्रारंभ करने के लिए राज्य सरकार ने 110 करोड़ रुपए और मंजूर किए हैं। बुधवार को विधानसभा में वित्त मंत्री जयंत मलैया द्वारा प्रस्तुत बजट में इसकी घोषणा की गई। यह राशि 150 विद्यार्थियों की पहली बैच के लिए मेडिकल कॉलेज में आवश्यक फर्नीचर, रखरखाव और भर्ती करने वाले स्टाफ पर खर्च की जाएगी। इसके अलावा करमदी-मथुरी और त्रिवेणी-कनेरी सड़क के लिए 11.77 करोड़ रुपए भी मिले हैं। इससे 12 से ज्यादा गांवों के ग्रामीणों को सुविधा हो जाएगी। विधायक एवं राज्य योजना आयोग उपाध्यक्ष चेतन्य काश्यप इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे थे लेकिन अस्वस्थता के चलते बुधवार को भोपाल नहीं जा पाए। विधायक काश्यप ने बताया बजट मिलने से मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया की शर्तों को पूरा करने तथा इसके निरीक्षण में लाभ मिलेगा। इससे कॉलेज को मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया की अनुमति मिलने का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है।

बजट में रतलाम को ये मिला

क्षेत्र राशि क्या होगा

मेडिकल कॉलेज 110 करोड़ वेतन, फर्नीचर, रखरखाव

करमदी-मथुरी रोड 3.27 करोड़ 3.2 किमी सड़क नई बनेगी

त्रिवेणी-कनेरी रोड 8.5 करोड़ 6 किमी सड़क नई बनेगी

मेडिकल कॉलेज के लिए 110 करोड़ रुपए मिले, 11.77 करोड़ से बनेगी करमदी-मथुरी व त्रिवेणी-कनेरी सड़क

मेडिकल कॉलेज 95 प्रतिशत फ्रेम वर्क पूरा, पहली बैच के लिए मई में होगी परीक्षा

मेडिकल कॉलेज की पहली बैच के लिए मई में ऑल इंडिया नेशनल इंट्रेंस एलिजिबिलिटी टेस्ट होगा। विद्यार्थियों के चयन के बाद जुलाई से कक्षा शुरू हो जाएगी। इसके लिए भवन का 95 प्रतिशत आरसीसी फ्रेम वर्क पूरा हो गया है। वर्तमान में खिड़की-दरवाजे लगने और रंग-रोगन का काम चल रहा है। 150 सीट की पहली बैच में से 127 प्रदेश के विद्यार्थियों के रिजर्व रहेगी। डीन डॉ. संजय दीक्षित ने बताया आल इंडिया स्तर की 23 सीटों पर आरक्षण का कोई पालन नहीं होगा। फिलहाल एनआरआई कोटे के लिए सीटों का प्रावधान नहीं किया है। साढ़े चार साल के कोर्स के लिए एससी, एसटी के विद्यार्थियों की फीस नहीं लगेगी, जबकि सामान्य वर्ग के लिए 50 हजार रुपए साल के लगेंगे। स्टाफ में डॉक्टर, प्राध्यापक, अधिकारियों व कर्मचारियों को सहित 1600 अधिकारी-कर्मचारी रहेंगे।

सड़क, तालाब, स्कूल व नल-जल योजना के लिए 55 करोड़ रुपए से ज्यादा मिले, गांवों की राह होगी आसान

रतलाम ग्रामीण विधानसभा को सड़क, तालाब, स्कूल व नल-जल योजना में 55 करोड़ से ज्यादा स्वीकृत हुए। 13 सड़कों के लिए 34 करोड़ 58 लाख 43 हजार रुपए, 6 स्कूलों के लिए 9 करोड़ रुपए, एक तालाब के लिए 3 करोड़ 37 लाख 29 हजार रुपए और 6 नल-जल योजना के लिए 8 करोड़ 19 लाख 57 हजार स्वीकृत हुए हैं। विधायक मथुरालाल डामर ने बताया सड़क, शिक्षा और पानी की व्यवस्था बेहतर करने के लिए यह राशि प्रदेश सरकार ने स्वीकृत की है।

सड़क : मलवासा से पाताखेड़ी, कोटड़ी से कचलाना, चौराना से बदनारा, बंबोरी से धनेसरा, पलास से इमलीपाड़ा, रिंगनिया से सुराना, मलवासा से नरसिंहगढ़, जड़वासा खुर्द से बरबनखेड़ी, चौराना से बिलपांक, कोलबाखेड़ी से करमदी, ढिकवा से कचलाना, त्रिवेणी से कनेरी, छत्री जाबड़ा मार्ग।

स्कूल : नगरा, भाटी बड़ोदिया, लुनेरा, पीपलखूंटा, ढिकवा, पलसोड़ा में उमावि भवन बनेंगे। हर भवन के लिए 1.50 लाख रुपए मिले हैं।

जल संसाधन : एवरिया में 125 हेक्टेयर का तालाब के लिए 3 करोड़ 37 लाख 29 हजार मंजूर हुए।

नल-जल योजना : मांगरोल, गुणावद, जमुनिया, पलसोड़ी, गोपालपुरा, रामपुरिया में मंजूर हुई।

सैलाना विधानसभा : पुनियाखेड़ी में 36 करोड़ का डैम बनेगा, सैलाना विधानसभा को इस बजट में 41 करोड़ की लागत के दो डेम मिले हैं। इसमें पुनियाखेड़ी में 36 करोड़ का और आंबाकुड़ी में 5 करोड़ का डेम बनाया जाएगा।

रोजड़ नदी पर सवा तीन करोड़ का पुल बनेगा

जावरा/आलोट | प्रदेश के बजट में जावरा-सुखेड़ा रोड पर रोजड़ नदी पर सवा तीन करोड़ लागत से बनने वाले पुल समेत कई सड़कों को स्वीकृति मिली है। सुखेड़ा में रोजड़ नदी पर ब्रिज निर्माण का प्रोजेक्ट सेतु निगम ने भेजा था, इसे बजट में शामिल कर लिया है। इसकी पुष्टि अधिकारियों ने कर दी लेकिन बाकी कार्यों के लिए बजट प्रावधान की जानकारी एक-दो दिन में मिलेगी। विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय ने बताया क्षेत्र के कई प्रोजेक्ट बजट में सम्मिलित हुए हैं। हमने सड़कों के साथ पुलियाओं के प्रस्ताव बजट में सम्मिलित करवाने के लिए दिए थे। बुकलेट के विस्तृत अध्ययन के बाद स्पष्ट जानकारी मिल पाएगी। आलोट विधायक जितेंद्र गेहलोत ने बताया बजट एकमुश्त है। वर्गीकरण होने में एक-दो दिन लगेंगे। कुछ प्रोजेक्ट रह गए होंगे तो पूरक बजट में शामिल करवाएंगे।