Hindi News »Madhya Pradesh »Jaora» बॉर्डर मीटिंग सीमावर्ती जिलों के अफसरों की बैठक में लिया निर्णय

बॉर्डर मीटिंग सीमावर्ती जिलों के अफसरों की बैठक में लिया निर्णय

राजस्थान के सीमावर्ती जिलों बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ और रतलाम की पुलिस के बीच सूचना के आदान-प्रदान के लिए वाट्सएप ग्रुप...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 07:10 AM IST

बॉर्डर मीटिंग 
सीमावर्ती जिलों के अफसरों की बैठक में लिया निर्णय
राजस्थान के सीमावर्ती जिलों बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ और रतलाम की पुलिस के बीच सूचना के आदान-प्रदान के लिए वाट्सएप ग्रुप बनाएंगे। करणी सेना और किसान आंदोलन में सक्रिय नेताओं की प्रोफाइल बनाकर गतिविधियों और योजनाओं की जानकारी साझा करेंगे। बुधवार को पुलिस कंट्रोलरूम में आयोजित बॉर्डर मीटिंग में यह निर्णय लिया।

मीटिंग में कंजर समस्या, हथियारों की तस्करी, आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर नाकाबंदी, फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के मुद्दे पर भी चर्चा हुई। पुलिस अफसरों ने फरार इनामी वारंटी कंजरों व अन्य आरोपियों की सूची आदान-प्रदान की। सीमा से लगे अन्य प्रदेश के जिलों के साथ तालमेल बिठाकर कानून व्यवस्था व अपराध नियंत्रण के लिए बुलाई बैठक में रतलाम रेंज के डीआईजी जे.एस. कुशवाह, एसपी अमित सिंह, बांसवाड़ा एसपी कालूराम रावत, प्रतापगढ़ एसपी शिवनाथ मीणा के अलावा एएसपी प्रदीप शर्मा (आईपीएस), डॉ. राजेश सहाय, जावरा सीएसपी आशुतोष बागरी (आईपीएस) व अमित तोलानी (आईपीएस) के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

अब वाट्सएप ग्रुप बनाकर रतलाम, प्रतापगढ़ और बांसवाड़ा के पुलिस अफसर साझा करेंगे जानकारियां

बॉर्डर मीटिंग में उपस्थित रतलाम और सीमावर्ती जिलों के पुलिस अधिकारी।

अवैध हथियारों की दी जानकारी

अवैध हथियार बनाकर सप्लाई करने वाले खरगोन, बुरहानपुर और धार जिले के सिकलीगर की गतिविधियों की जानकारी देते हुए एसपी अमित सिंह ने किसान आंदोलन और करणी सेना की गतिविधियों और संबंधित नेताओं के बारे में जानकारी दी। एसपी सिंह ने 5 इनामी कंजर, 7 स्थायी वारंटी कंजर, 8 फरारी वारंटी कंजर, 16 अन्य वारंटी तथा 20 अन्य स्थायी वारंटियों की सूची प्रतापगढ़ और बांसवाड़ा एसपी को तथा बांसवाड़ा एसपी रावत ने 40 तथा प्रतापगढ़ एसपी मीणा ने 23 अपराधियों की सूची रतलाम एसपी को दी। बैठक में सांप्रदायिक और अपराधियों को संरक्षण देने वाले व्यक्तियों को चिह्नित कर उनके संबंध में जानकारी साझा करने पर भी चर्चा हुई।

ये निर्णय भी लिए

सीमावर्ती राज्य के जिले में दबिश देने या अपराधी को पकड़ने पुलिस दल जाएगा तो संबंधित एसपी से मिलेगा। वे आरोपियों को पकड़वाने और जांच में सहयोग देंगे।

विधानसभा चुनाव के दौरान बॉर्डर पर सामंजस्य के साथ नाकाबंदी और एंट्री की व्यवस्था होगी। एक-दूसरे के जिलों में प्रवेश के स्थानों पर व्यवस्था और सहयोग के लिए हर महीने टीआई और एसडीओपी स्तर के अधिकारी की बैठक होगी।

वारदात कर दूसरे प्रदेश में भाग जाने वाले कंजर तथा अन्य अपराधियों को पकड़ने के लिए योजना बनाएंगे।

सांप्रदायिक घटना के आरोपियों की सूची बनाकर प्रोफाइल तैयार करेंगे जिसमें उनके परिवार और रिश्तेदारों की भी जानकारी होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jaora News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: बॉर्डर मीटिंग सीमावर्ती जिलों के अफसरों की बैठक में लिया निर्णय
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jaora

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×