• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Jaora
  • बिजली उपकेंद्र का उन्नयन होगा, बड़ायला माताजी में नया केंद्र स्थापित होगा
--Advertisement--

बिजली उपकेंद्र का उन्नयन होगा, बड़ायला माताजी में नया केंद्र स्थापित होगा

जावरा | नगर में रतलाम नाका स्थित 132 केवीए बिजली उपकेंद्र का उन्नयन कर इसे 220 केवीए क्षमता में बदला जाएगा। इस पर 40 करोड़...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 07:15 AM IST
जावरा | नगर में रतलाम नाका स्थित 132 केवीए बिजली उपकेंद्र का उन्नयन कर इसे 220 केवीए क्षमता में बदला जाएगा। इस पर 40 करोड़ खर्च होंगे। इससे जुड़ी 5.14 करोड़ लागत से नई लाइन बिछाई जाएगी। इसके अलावा बड़ायला माताजी में नया 220 केवीए क्षमता का बिजली उपकेंद्र स्थापित किया जाएगा। इस पर 50 करोड़ खर्च होंगे। यहां भी 31 करोड़ लागत से पारेषण लाइन डाली जाएगी। इस तरह दोनों प्रोजेक्ट पर करीब 126 करोड़ खर्च होंगे। इनकी स्वीकृति हो चुकी है।

यह जानकारी बुधवार को विधानसभा सदन में ऊर्जा मंत्री पारस जैन ने दी। विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय ने बिजली एवं सिंचाई परियोजना की प्रोग्रेस रिपोर्ट की जानकारी सरकार से मांगी थी। इस पर ऊर्जा मंत्री जैन ने दोनों परियोजनाओं की स्वीकृति संबंधी जानकारी दी। इससे क्षेत्र में बिजली आपूर्ति व्यवस्था सुदृढ़ होगी। लोड कम होगा और वोल्टेज समस्या खत्म हो जाएगी। ऊर्जा मंत्री ने कहा सौभाग्य योजना के तहत जावरा एवं पिपलौदा तहसील क्षेत्र के 2932 हितग्राहियों को बिजली कनेक्शन दिए जा रहे हैं। दो साल के बीच विस क्षेत्र में 146 ट्रांसफार्मर में क्षमता वृद्धि कार्य किए गए। 73 अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाए हैं। विधायक डॉ. पांडेय के एक अन्य प्रश्न के जवाब में महिला व बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस ने कहा चार साल में विस क्षेत्र में 155 आंगनवाड़ी केंद्रों की भवन संबंधी समस्या दूर की। पूरक पोषण कार्यक्रम अंतर्गत 7 करोड़ 88 लाख रुपए की राशि खर्च की गई। अनुसूचित जाति बस्ती में विकास के विकास कार्यों के संबंध में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पिछले साल जिले में इन योजना के तहत 93 लाख स्वीकृत किए। इसमें से जावरा विस क्षेत्र के हितग्राहियों को 20 लाख के कार्यों का लाभ मिला।