• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Jaora
  • हादसे के बाद खानापूर्ति सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में निर्देश देकर प्रशासन ने पल्ला झाड़ा
--Advertisement--

हादसे के बाद खानापूर्ति सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में निर्देश देकर प्रशासन ने पल्ला झाड़ा

सड़क हादसों में दो मौत के बाद जागा प्रशासन 133 दिन पहले सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिए 20 फैसलों में से एक का भी पालन...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 02:20 PM IST
सड़क हादसों में दो मौत के बाद जागा प्रशासन 133 दिन पहले सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में लिए 20 फैसलों में से एक का भी पालन नहीं करवा पाया। बैठक में लिए निर्णयों पर अमल करवाने की मॉनिटरिंग के लिए समिति का गठन तक नहीं किया। हादसे के बाद ताबड़तोड़ बुलाई बैठक में फिर से नए फैसले लिए और हफ्तेभर में फोरलेन के गड्‌ढे भरने, लाइट लगाने सहित कई निर्देश दिए, इनका पालन नहीं करने पर टोल कंपनी सीईओ पर एफआईआर की चेतावनी भी दी।

तीन महीने में होने वाली सड़क सुरक्षा समिति की बैठक 133 दिन बाद दो हादसे होने पर बुलाई। आरटीओ जया वसावा ने पिछले साल 20 सितंबर को हुई बैठक में लिए निर्णय पढ़े तो जिला प्रशासन को सभी मामलों मंे ना ही सुनने को मिला। समिति अध्यक्ष कलेक्टर ने पिछली बैठक में लिए निर्णयों पर अमल करवाने के लिए प्रशासन, पुलिस, परिवहन, नगर निगम, यातायात व अशासकीय प्रतिनिधियों की स्थायी समिति बनाने के निर्देश दिए थे। वह भी नहीं बनी।

हफ्तेभर में फोरलेन के गड्ढे नहीं भरे, लाइट व संकेतक नहीं लगे तो टोल कंपनी सीईओ पर होगी एफआईआर

जावरा विधायक ने बताई रतलाम शहर की समस्या

विधायक राजेंद्र पांडेय रतलाम शहर में रोड पर सामान बेचने वालों की बात करने लगे तो कलेक्टर ने उनसे कहा जावरा का कोई मामला हो तो बताएं। इस पर विधायक ने कहा बैठक पूरे जिले की हो रही है और यहां की समस्या बता रहा हूं।

सुरक्षा समिति की बैठक में ये निर्णय भी लिए




एमपीआरडीसी के एमडी आएंगे निरीक्षण करने

फोरलेन की व्यवस्थाएं नहीं सुधरने पर सड़क की सुरक्षा समिति की बैठक के दौरान ही कलेक्टर ने एमपीआरडीसी के एमडी डीपी आहूजा को कॉल कर बात की। इस पर उन्होंने इसी महीने निरीक्षण करने की बात कही।

पिछली बैठक में ये लिए थे निर्णय जिन पर अमल नहीं हुआ

निर्णय- फोरलेन के ब्लैक स्पॉट पर संकेतक, रिफ्लेक्टर लगाएं, ब्रेकर बनाएं, लाइट लगाएं।

वर्तमान स्थिति - सातरुंडा व अरनियापीथा मंडी चौराहे पर लाइट नहीं लगी। संकेतक, रिफ्लेक्टर नहीं लगे, ब्रेकर नहीं बने।

सफाई- एमपीआरडीसी के एजीएम राकेश सोलिया ने बताया जून तक कर देंगे।

नए निर्देश- हफ्तेभर में व्यवस्था नहीं सुधरी तो टोल कंपनी के सीईओ पर केस दर्ज होगा।

निर्णय- काशीनाथ नोहरे में विक्रेताओं के प्लेटफॉर्म बनाकर सब्जी मंडी स्थानांतरित करें। वर्तमान स्थिति- सब्जी वाले अंदर दुकान लगाने से पहले सुविधा मांग रहे हैं लेकिन निगम कुछ नहीं कर रहा है। सफाई- नगर निगम कमिश्नर एसके सिंह ने बताया सब्जी वाले अंदर जाने को तैयार नहीं। नए निर्देश -नोहरे में सफाई, पानी, प्लेटफॉर्म की सुविधा दें।

निर्णय- नगर निगम हॉकर्स जोन बनाएं।

वर्तमान स्थिति- कहीं नहीं बनाए।

सफाई- कमिश्नर एसके सिंह बोले-जगह नहीं मिल पाई।

नए निर्देश- सैलाना बस स्टैंड, बाजना बस स्टैंड पर हॉकर्स जोन बनाएं।

निर्णय- सड़क निर्माण एजेंसी व पुलिस ब्लैक स्पॉट का चयन करे। यहां साइन बोर्ड, रिफ्लेक्टर, रेलिंग लगवाएं। वर्तमान स्थिति - कहीं कुछ नहीं हुआ। सफाई - एमपीआरडीसी के एजीएम राकेश सोलिया ने बताया बारिश के पहले सारी व्यवस्था करवाएंगे। नए निर्देश- कलेक्टर ने सोलिया से कहा हफ्तेभर में व्यवस्था कर सुरक्षा समिति के वाट्स एप पर डालें।

निर्णय- आ‌वारा मवेशियों को हटाएंगे।

वर्तमान स्थिति- एसपी ने दो बत्ती पर खड़े सांड का मोबाइल पर फोटो दिखाया। कहा पूरे शहर में मवेशी घूम रहे हैं।

सफाई- निगम कमिश्नर एसके सिंह ने कहा सांड को कोई रखने को तैयार नहीं।

नए निर्देश- नगर निगम कांजी हाउस शुरू करे, मवेशियों को पकड़कर उसमें रखें। छुड़ाने वालों से जुर्माना वसूलें।

निर्णय- एक्शन प्लान बनाकर अतिक्रमण हटाएं। वर्तमान स्थिति- 3 स्थानों से अतिक्रमण हटाए फिर कब्जे होने लगे।

सफाई- एसडीएम अनिल भाना ने बताया तीन स्थानों पर अतिक्रमण हटाया। नए निर्देश- सबसे पहले दो बत्ती और सैलाना बस स्टैंड से अतिक्रमण हटाएं।

‘आप दिमाग से पैदल हैं या हमें बेवकूफ समझ रहे हैं, किस भाषा में समझाएं’

सड़क सुरक्षा समिति की पिछली बैठक में निर्देश देने के बाद भी फोरलेन की व्यवस्था दुरुस्त नहीं होने पर कलेक्टर ने एमपीआरडीसी के एजीएम राकेश सोलिया से कहा आप दिमाग से पैदल हो या हम बेवकूफ हैं। आपको हिंदी-अंग्रेजी में समझ में नहीं आता। आपको तीसरी कौन-सी भाषा में समझाएं। टोल तो कंपनी वसूलती है लेकिन काम समय पर क्यों नहीं हो रहे हैं।

वन-वे व वैकल्पिक मार्ग पर चर्चा ही नहीं हो सकी

बुधवार शाम 6.30 बजे शुरू हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक रात 8 बजे खत्म हुई लेकिन इसमें जिला पंचायत से फव्वारा चौक तक वन-वे करने और छत्री पुल के पास का वैकल्पिक मार्ग बंद होने पर पशु चिकित्सालय के पास वाला वैकल्पिक मार्ग शुरू करने पर चर्चा करना थी लेकिन इस पर बात ही नहीं हो सकी।