Hindi News »Madhya Pradesh »Jaura» आश्वासन के बाद भी पहाड़गढ़ टप्पा को नहीं मिल रहा तहसील का दर्जा

आश्वासन के बाद भी पहाड़गढ़ टप्पा को नहीं मिल रहा तहसील का दर्जा

पहाड़गढ़ स्थित टप्पा तहसील कार्यालय। डेढ़ साल पहले सीएम ने जौरा में पहाड़गढ़ को तहसील बनाने की घोषणा की थी भासकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 03:15 AM IST

आश्वासन के बाद भी पहाड़गढ़ टप्पा को नहीं मिल रहा तहसील का दर्जा
पहाड़गढ़ स्थित टप्पा तहसील कार्यालय।

डेढ़ साल पहले सीएम ने जौरा में पहाड़गढ़ को तहसील बनाने की घोषणा की थी

भासकर संवाददाता | पहाड़गढ़

पहाडगढ़ टप्पा तहसील को तहसील बनाए जाने की घोषणा प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पिछले डेढ़ साल में दो बार कर चुके हैं, लेकिन जमीनी स्तर पर अब तक इस ओर कोई भी प्रयास होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है। स्थिति यह है कि टप्पा तहसील में सप्ताह में एक दिन नायब तहसीलदार यहां महज खानापूर्ती करने लिए आते हैं। जिसकी वजह से स्थानीय सहित आसपास के गांवों में रहने वाले लोगों को राजस्व संबंधी कामकाज के लिए 45 किलोमीटर लंबा सफर तय करकर जौरा जाना पड़ रहा है।

बतादें कि पहाड़गढ़ टप्पा तहसील में नायब तहसीलदार, आरआई, पटवारी सहित अन्य राजस्व अधिकारी व कर्मचारी को सप्ताह में तीन दिन दफ्तर में उपस्थित होना था। जिससे यहां आने वाले लोगों के राजस्व संबंधी कामकाज का निराकरण हो सके। लेकिन टप्पा तहसील में ऐसा नहीं हो रहा है। यहां महीने में सिर्फ एक दिन ही राजस्व अधिकारी व अमला बैठकर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है। ऐसे में ग्रामीणों के बंटवारे, नामांतरण, सीमांकन सहित अन्य जरूरी काम समय पर नहीं निपट पा रहे हैं।

सुनवाई नहीं हुई तो करेंगे प्रदर्शन

पहाड़गढ़ निवासी केदार सिंह सहित अन्य लोगों का कहना है कि अगर चुनाव से पहले अगर पहाड़गढ़ को तहसील बनाने कवायद शुरू नहीं की गई तो हम लोगों को मजबूरी में अपनी मांग को लेकर सड़कों पर उतरकर शासन व प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन शुरू करना पड़ेगा।

2 बार मिल चुका है आश्वासन



करीब डेढ़ साल पहले जौरा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने लोगों की मांग पर पहाड़गढ़ टप्पा तहसील को तहसील बनाए जाने का आश्वासन दिया था, वहीं इसके कुछ महीनों बाद रजौदा में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित होकर मुख्यमंत्री ने दोबारा से पहाडग़ढ़ को तहसील बनाए जाने की घोषणा की थी, लेकिन बीते डेढ़ साल में दो बार प्रदेश के मुखिया की ओर से मिले आश्वासन के बाद भी अब तक पहाड़गढ़ टप्पा तहसील को तहसील का दर्जा नहीं मिल पाया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jaura

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×