--Advertisement--

आदिनाथजी की रथयात्रा निकाली, देववंदन करने के बाद हुई आरती

बावन जिनालय से निकली आदिनाथ भगवान की रथ यात्रा में शामिल समाजजन। चैत्र पूर्णिमा पर्व पर बावन जिनालय में हुए...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:40 AM IST
आदिनाथजी की रथयात्रा निकाली, देववंदन करने के बाद हुई आरती
बावन जिनालय से निकली आदिनाथ भगवान की रथ यात्रा में शामिल समाजजन।

चैत्र पूर्णिमा पर्व पर बावन जिनालय में हुए विभिन्न आयोजन

भास्कर संवाददाता |झाबुआ

चैत्र पूर्णिमा पर्व पर शनिवार को श्री आदिनाथ भगवान की रथयात्रा निकाली गई। इस दौरान श्री सिद्धाचल तीर्थ की भावयात्रा, देववंदन के साथ ही महाआरती की गई।

प्रात: श्री सिद्धाचल स्वरूप आदिनाथ भगवान का पंचामृत से अभिषेक किया गया। प्रात: 9 बजे बावन जिनालय से श्री आदिनाथ भगवान की रथयात्रा शुरू हुई। भगवान के रथ के सारथी के रूप में शाश्वत मेहता व परी रुनवाल बैठे थे। दर्श राठौर भगवान को चंवर ढुला रहे थे। श्रावक जय आदिनाथ के जयकारे लगा रहे थे। समापन पुन: बावन जिनालय पहुंचकर हुआ। यहां श्री सिद्धाचल के पट्‌ट के समक्ष साध्वीश्री पुनितप्रज्ञाश्रीजी की निश्रा में भावयात्रा शुरू हुई। साध्वीश्री ने तीर्थ की महिमा बताते हुए कहा आज ही के दिन आदिनाथ भगवान के प्रथम शिष्य गणधर श्री पुंडरीक स्वामीजी 5 करोड़ मुनि को लेकर मोक्ष में पधारे थे। सर्व सिद्धिप्रदायक, सर्वपाप निवारणकर्ता इस तीर्थ का कण-कण पूजनीय है। उन्होंने देववंदन की विधि कराई। अंत में श्री शत्रुंजय तीर्थ की आरती सुभाष कोठारी परिवार द्वारा उतारी गई। उधर, श्री महावीर स्मारक बाग के वार्षिक चढ़ावे बोले गए। जिसमें समाजजनों ने भाग लिया।

X
आदिनाथजी की रथयात्रा निकाली, देववंदन करने के बाद हुई आरती
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..