Hindi News »Madhya Pradesh »Jhabua» गरीबों से 200 रु. भी क्यों लिए जा रहे : सांसद आपने गरीबों के लिए क्या किया : विधायक

गरीबों से 200 रु. भी क्यों लिए जा रहे : सांसद आपने गरीबों के लिए क्या किया : विधायक

कार्यक्रम के दौरान लोगों का हुजूम देख कलेक्टर इतने खुश हुए कि वे मंच से ही अपने मोबाइल में वीडियो बनाने लगे।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 12, 2018, 02:10 AM IST

गरीबों से 200 रु. भी क्यों लिए जा रहे : सांसद 
आपने गरीबों के लिए क्या किया : विधायक
कार्यक्रम के दौरान लोगों का हुजूम देख कलेक्टर इतने खुश हुए कि वे मंच से ही अपने मोबाइल में वीडियो बनाने लगे। कलेक्टर ने काफी देर तक वीडियो बनाई। इसके बाद कांग्रेस-भाजपा नेताओं के भाषणों के बाद दोपहर 3 बजे से मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के जावरा कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया गया। इसके बाद जिलेभर के 16 हजार से ज्यादा हितग्राहियों के 9 करोड़ रुपए के बिजली बिल माफी के प्रमाण पत्रों का वितरण शुरू किया गया। देर शाम तक प्रमाण पत्रों का वितरण चला। स्वागत भाषण बिजली कंपनी के अधीक्षण यंत्री एलके सोनेजी ने देते हुए दोनों योजनाओं की जानकारी दी। आभार डीई ब्रजेश यादव ने माना।

गांवों में पैसा नहीं भरने वालों का सामान उठा ले जाते हैं : सांसद

सांसद कांतिलाल भूरिया ने कहा-आप लोग योजना का लाभ लें लेकिन जो यह योजना केवल दिखावा है। कांग्रेस के शासन में एक बत्ती कनेक्शन मुफ्त थे। भाजपा की सरकार 200 रुपए ले रही है और दिखावा भी कर रही है कि हमने बिजली बिल माफ कर दिए। 200 रुपए भी नहीं लिए जाने चाहिए। अभी तक गांवाें में बिल का पैसा नहीं जमा करने पर घर का सामान उठा कर ले जाते थे। चुनाव आ गया है तो बिल माफ कर रहे हैं। इतने बड़े सम्मेलन करके पैसा बर्बाद कर रहे हैं। इतने में तो बिजली बिल माफ हो जाएंगे।

सांसद ने खुद कुछ किया नहीं, लोगों को भड़का रहे : विधायक

सांसद के चले जाने के बाद मंच पर आए विधायक शांतिलाल बिलवाल ने कहा-हम देवझिरी में 150 गैस सिलेंडर का वितरण कर रहे थे, इसलिए लेट हो गए, जो लोग फुर्सत में थे, वे बोल कर चले गए। वो कृषि मंत्री थे, तब दो किसानों को साथ ले गए थे। वे थे प्रकाश रांका और पप्पू जैन। पूरे आदिवासी जिले में ये दो धनाढ्य सेठ ही मिले थे किसान के नाम से। कृषि मंत्री रहते झाबुआ जिले में कृषि महाविद्यालय नहीं खुलवा पाए। सिर्फ लोगों को भड़काने का काम करते हैं। वे या तो सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाएं या देने दो। अापने गरीबों के लिए क्या किया। अपने बेटे को डॉक्टर बना दिया। भाजपा गरीब आदिवासी के बच्चे को डॉक्टर बनाने के लिए काम कर रही है। हमारा दुर्भाग्य है कि प्रोटोकॉल है, जिसमें उन्हें (सांसद को) बुलाना पड़ता है।

सरकार पैसा नहीं लेगी तो बिजली नहीं दे पाएगी : भाजपा जिलाध्यक्ष

भाजपा जिलाध्यक्ष मनोहर सेठिया बोले-यदि सरकार पैसा नहीं लेगी तो बिजली नहीं दे पाएगी। जैसा कि दिग्विजयसिंह की सरकार में होता था। सांसद यहां बड़ी-बड़ी बातें करके गए हैं लेकिन वे खुद जानते हैं कि उनके सांसद रहते दिग्विजयसिंह के राज में दिन में दो तीन घंटे बिजली आती थी। भाजपा की सरकार बिजली दे रही है तो सांसद कह रहे हैं कि यह भी मत लो। केंद्र सरकार गैस का कनेक्शन मुफ्त दिए जा रहे हैं तो वे आदिवासी भाइयों को भड़का रहे हैं कि गैस कनेक्शन लिया तो घर जल जाएगा। इतने ऊंचे पद पर बैठे व्यक्ति ऐसी बात करे तो शोभा नहीं देता। खुद तो कुछ कर नहीं पाए, भाजपा की सरकार में गरीबों का हित हो रहा है, वह भी सहन नहीं हो रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhabua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×