झाबुआ

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
--Advertisement--

प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार

जनपद कार्यालय में नाराजी जताते जनप्रतिनिधि। भास्कर संवाददाता | झाबुआ असंगठित श्रमिकों की मुख्यमंत्री जन...

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2018, 02:51 AM IST
प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
जनपद कार्यालय में नाराजी जताते जनप्रतिनिधि।

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

असंगठित श्रमिकों की मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में बनाई गई निगरानी समिति के सदस्यों ने अधिकारियों के देरी से आने से शनिवार को प्रशिक्षण का बहिष्कार कर दिया। भाजपा नेता भी पहुंचे और अधिकारियों पर नाराज हुए। प्रशिक्षण निरस्त कर दिया गया। 1 अगस्त को दोबारा प्रशिक्षण रखा गया है।

दरअसल योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में हर वार्ड में पांच और ग्रामीण क्षेत्र में हर ग्राम पंचायत स्तर पर पांच लोगों की निगरानी समिति बनाई गई है। झाबुआ शहर और जनपद का संयुक्त प्रशिक्षण शनिवार को रखा गया था। इसके तहत झाबुआ शहर के 18 वार्डों के 90 और जनपद की 68 ग्राम पंचायतों के 340 सदस्यों को प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया। सूचना देने में लापरवाही की गई। इसमें प्रशिक्षण स्थल जनपद पंचायत झाबुआ लिख दिया। ब्लॉक कॉलोनी या फव्वारा चौक के पास स्पष्ट नहीं लिखने से कुछ सदस्य ब्लॉक कॉलोनी और कुछ सदस्य फव्वारा चौक पहुंच गए। दोनों ही जगह प्रशिक्षण देने वाले श्रम विभाग के अधिकारी समय पर नहीं पहुंचे। सुबह 11 बजे समय दिया गया था। प्रशिक्षण देने के लिए अधिकारी 11.55 बजे पहुंचे। एक घंटा देरी से से आए श्रम विभाग के अधिकारियों पर निगरानी समिति के सदस्य नाराज हो गए और अब हम प्रशिक्षण नहीं लेंगे। प्रशिक्षण का बहिष्कार कर दिया।


अच्छी योजना को बट्टा लगा रहे अधिकारी

अफसरों के रवैये पर महिला मोर्चा की नगर मंडल अध्यक्ष बसंती बारिया ने कहा-सीएम की अच्छी योजना को बट्टा लगा रहे हैं। भाजपा नगर अध्यक्ष बबलू सकलेचा बोले जिन अधिकारियों ने बुलाया, उन्हें समय पर पहुंचना चाहिए।

लोगों को समझाते श्रम अधिकारी।

और इधर, नगर पालिका में लापरवाही

बिना सत्यापन के बंट रहे कार्ड

संबल योजना के रजिस्ट्रेशन कार्ड अच्छी गुणवत्ता के न होने के साथ ही त्रुटिपूर्ण बने हैं। अब इन्हें बांटने के मामले में भी नगरपालिका की ओर से लापरवाही बरती जा रही है। शनिवार को रजिस्ट्रेशन कार्ड वार्ड वार बॉक्स में रखे हुए थे। यहां एक कर्मचारी बैठा था। लोग वार्ड वार बॉक्स में से अपने कार्ड के साथ और लोगों के भी कार्ड ले जा रहे थे। कार्ड ले जाने वाले का सत्यापन करने की कोई व्यवस्था नहीं थी।

ये देखिए जारी होने के पहले ही वैधता समाप्त

वार्ड क्रमांक 9 में सोनीबाई परखून के कार्ड में पंजीयन की तारीख 10 मई 2018 छपी है। पंजीयन की वैधता की तारीख 1 जनवरी 2018 है। यानी कार्ड की वैधता पंजीयन से पहले ही खत्म हो गई। कार्ड के नाम पर की जा रही खानापूर्ति को लोग सोशल मीडिया पर भी ट्रोल कर रहे हैं। गोपाल कॉलोनी के अंबरीश भावसार ने इस विषय पर भास्कर में प्रकाशित की गई खबर को ट्विट करते हुए लिखा ‘भाजपा लाख भला चाहे जनता का, जनहित के कार्यों में मुश्किलें ऐसे लाई जाती है’। कई कार्डों में इस तरह की गड़बड़ी है। अब कार्ड की गड़बड़ी ठीक कराने के लिए लोगों को नगर पालिका के चक्कर काटने होंगे। समय खराब होगा वह अलग। लोगों का कहना है कि कार्ड बांटने से पहले चेक कर लिया जाता है गड़बड़ी आसानी से पकड़ में आ जाती।

प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
X
प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
प्रशिक्षण के लिए बुलाकर एक घंटा देरी से आए अधिकारी तो नाराज सदस्यों ने किया बहिष्कार
Click to listen..