झाबुआ

--Advertisement--

किसी ने जल चढ़ाया तो किसी ने किया दुग्धाभिषेक

पहले श्रावण सोमवार पर अंचल आस्था की बारिश से तर हो गया। भूतभावन भगवान भोलेनाथ के मंदिरों के पट तड़के ही खुल गए थे।...

Dainik Bhaskar

Jul 31, 2018, 02:55 AM IST
किसी ने जल चढ़ाया तो किसी ने किया दुग्धाभिषेक
पहले श्रावण सोमवार पर अंचल आस्था की बारिश से तर हो गया। भूतभावन भगवान भोलेनाथ के मंदिरों के पट तड़के ही खुल गए थे। भक्तों ने व्रत रखा और भगवान का जल, दूध व पंचामृत से अभिषेक किया।

श्रद्धालुओं ने भोलेनाथ को आंकड़े, फूल, बिल्व पत्र और धतूरा अर्पित कर पूजा-अर्चना की। शिवालयों की आकर्षक साज-सज्जा की गई। मंदिरों में दिनभर धार्मिक आयोजन होते रहे। शहर के शिवालयों के अलावा श्रद्धालुओं ने घर में भी भगवान शिव की पूजा-अर्चना की। डीआरपी लाइन स्थित गोपेश्वर महादेव मंदिर, छोटा तालाब स्थित मनकामेश्वर महादेव मंदिर, सिद्धेश्वर महादेव मंदिर, सोमेश्वर महादेव मंदिर, उमापति महादेव मंदिर पर भी श्रद्धालुओं का दर्शन के लिए तांता लगा रहा। देवझिरी में भी श्रद्धालु सुबह ही दर्शन के लिए पहुंच गए। यहां दर्शन कर सुख समृद्धि की कामना की। विवेकानंद कॉलोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर में कॉलोनी सहित आसपास के लोग दर्शन के लिए पहुंचे। अलसुबह भगवान का जलाभिषेक किया गया।

पहला श्रावण सोमवार

तड़के खुले शिव मंदिरों केे पट, जिलेभर में गूंजे जयकारे, अलसुबह से ही मंदिरों में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

महिलाओं ने शिव मंदिर पहुंचकर दूध-जल से अभिषेक किया।

रुद्राभिषेक और महाआरती हुई

सिद्धेश्वर कॉलोनी स्थित सिद्धेश्वर महादेव मंदिर में भगवान का आकर्षक श्रृंगार किया गया। शहर के बीच स्थित होने के कारण इस मंदिर पर अधिक भीड़ देखी गई। श्रद्धालुओं ने शीश नवाकर भगवान के दर्शन किए। डीआरपी लाइन स्थित गोपेश्वर महादेव मंदिर में तड़के भगवान का रूद्राभिषेक और आरती की गई। पहले श्रावण सोमवार पर श्रद्धालुओं का मेला सा लगा रहा। रात आठ बजे महाआरती की गई। छोटा तालाब किनारे स्थित मनकामेश्वर महादेव मंदिर में आकर्षक विद्युत सज्जा ने लोगों का मन मोहा। तालाब किनारे स्थित होने के कारण यहां श्रद्धालुओं की भीड़ रहती है। तड़के भगवान भूतभावन का रूद्राभिषेक किया गया।

X
किसी ने जल चढ़ाया तो किसी ने किया दुग्धाभिषेक
Click to listen..