--Advertisement--

अब आधार की जगह करें वर्चुअल आईडी का उपयोग

मोबाइल की सिम लेने, बैंक अकाउंट खोलने, पेंशन या स्कॉलरशिप के लिए आधार ऑथेंटिकेशन कराने जाएं तो आप आधार नंबर की जगह...

Dainik Bhaskar

Jun 29, 2018, 03:05 AM IST
मोबाइल की सिम लेने, बैंक अकाउंट खोलने, पेंशन या स्कॉलरशिप के लिए आधार ऑथेंटिकेशन कराने जाएं तो आप आधार नंबर की जगह अपना 16 अंकों का वर्चुअल आईडी (वीआईडी)बता सकेंगे। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) एक जुलाई से यह सिस्टम लागू कर रहा है।

वीआईडी सिस्टम एक मार्च से ही लागू होना था, लेकिन बैंकों समेत अन्य संस्थाओं के सिस्टम को अपग्रेड कराने के लिए तीन महीने का वक्त दिया गया, इसलिए यह एक जुलाई से लागू किया जा रहा है। यह सिर्फ आधार ऑथेंटिकेशन के लिए ही होगा। आप resident. uidai. gov. in पोर्टल के होम पर विजिट करें। इसके राइट साइड में दिए गए ऑप्शन जनरेट योर वीआईडी पर क्लिक करें, जो पेज खुलेगा उस पर आधार नंबर डालें। इसके बाद कैप्चा यानी सिक्योरिटी कोड आएगा। उसे एंटर करें, फिर आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा। इसे एंटर करते ही आपके मोबाइल पर 16 अंकों का वीआईडी आ जाएगा। इसकी वेलिडिटी का समय तय नहीं किया गया है।

योजना

आधार ऑथेंटिकेशन के लिए 16 अंकों का वीआईडी सिस्टम एक जुलाई से होगा लागू

आपका पर्सनल डाटा सुरक्षित रखने के लिए वीआईडी

एक्सपर्ट के मुताबिक आपके निजी डाटा और प्राइवेसी को सुरक्षित रखने के लिए आधार नंबर की जगह ही वी आईडी का आॅप्शन रखा गया है। आधार बताने पर कई लोगों को यह शंका होती थी कि कहीं उनका डाटा तो सार्वजनिक नहीं हो रहा है।

भास्कर नॉलेज: वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं


नहीं, लेकिन एक जुलाई से बैंक, अन्य विभाग और संबंधित एजेंसी वीआईडी लेने से इनकार नहीं कर सकेंगे। आम लोगों के लिए यह वैकल्पिक रहेगा।


वीआईडी तो सिर्फ आधार ऑथेंटिकेशन के लिए ही बताया जा सकेगा।


सबसे पहले आधार सेंटर पर जाकर मोबाइल नंबर अपडेट कराएं, जो मोबाइल नंबर आप रजिस्टर्ड कराएंगे उसी पर आपका वीआईडी आएगा।


इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। यह तो रेंडमली जनरेट होता है। ऐसा होने पर कोई भी व्यक्ति आपके डाटा का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा।


कोई दिक्कत नहीं है, यह काम इंटरनेट से जुड़े कम्प्यूटर सिस्टम पर भी हो सकेगा।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..