• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • डेढ़ लाख से ज्यादा उपभोक्ता, पंजीयन नं. नहीं होने से 265 के ही बिल हो पाए माफ
--Advertisement--

डेढ़ लाख से ज्यादा उपभोक्ता, पंजीयन नं. नहीं होने से 265 के ही बिल हो पाए माफ

3.48 लाख असंगठित मजदूरों का जिले में हुआ पंजीयन लेकिन पंजीयन कार्ड नहीं बंटने से योजना के लाभ में देरी भास्कर...

Dainik Bhaskar

Jul 05, 2018, 03:05 AM IST
डेढ़ लाख से ज्यादा उपभोक्ता, पंजीयन नं. नहीं होने से 265 के ही बिल हो पाए माफ
3.48 लाख असंगठित मजदूरों का जिले में हुआ पंजीयन लेकिन पंजीयन कार्ड नहीं बंटने से योजना के लाभ में देरी

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी व सरल बिजली योजना में करीब डेढ़ लाख उपभोक्ता जिले में लाभान्वित होने हैं लेकिन अब तक 265 के ही बिजली बिल माफ हो पाए हैं। जबकि 200 रुपए के बिजली बिल वाली योजना में 230 के ही पंजीयन हो पाए हैं। इसकी मुख्य वजह है जिले में पंजीयन तो 3.48 लाख असंगठित मजदूरों का कर दिया है लेकिन पंजीयन नंबर कार्ड का वितरण अब तक नहीं हो पाया है। योजना का लाभ लेने के लिए पंजीयन नंबर अनिवार्य है। हालांकि जो लोग बिना पंजीयन नंबर के भी बिजली कंपनी पहुंच रहे हैं। उनके समग्र आईडी से असंगठित मजदूर पंजीयन क्रमांक तलाश कर फॉर्म जमा किया जा रहा है।

योजना में तेज प्रगति के लिए कलेक्टर आशीष सक्सेना ने अब दूसरे विभागों के कर्मचारियों को भी झोंक दिया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, कोटवार व ग्राम पंचायत सचिव अब असंगठित मजदूर और बीपीएल राशनकार्ड धारियों का योजना में पंजीयन करवाएंगे। बिजली माफी व 200 रुपए बिजली बिल के लिए रजिस्ट्रेशन का मजदूर परिवार का फॉर्म भर कर बिजली कंपनी कार्यालय में जमा करेंगे। इसके लिए बिजली कंपनी के डीई ब्रजेश यादव ने पहले चरण में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के मास्टर ट्रेनर को ट्रेनिंग दे दी है। 10 हजार फॉर्म भी महिला एवं बाल विकास विभाग को दिए हैं। अब ये मास्टर ट्रेनर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग व फॉर्म देकर अपने क्षेत्र के हितग्राहियों के फॉर्म भर कर बिजली कंपनी में जमा करवाएंगे।


बिजली कंपनी के सभी वितरण केंद्रों पर भी शिविर

बुधवार को बिजली कंपनी के जिले के सभी 13 वितरण केंद्रों पर शिविर शुरू किए गए। यहां योजना के पंजीयन किए जा रहे हैं। यह शिविर 15 जुलाई तक चलेंगे। डीई यादव ने बताया सरल बिजली बिल योजना के तहत 200 रु. प्रतिमाह बिजली बिल स्कीम का लाभ लेने के लिए उपभोक्ताओं को उनका असंगठित श्रमिक श्रेणी का पंजीयन क्रमांक विद्युत कार्यालय को उपलब्ध कराना होगा। मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना के तहत लाभ लेने के लिए उपभोक्ताओं को उनका बीपीएल क्रमांक विद्युत विभाग को उपलब्ध कराना होगा। साथ ही अन्य जानकारी जैसे कि उपभोक्ता का नाम, विद्युत बिल का सर्विस क्रमांक, मोबाइल नंबर एवं आधार नंबर (अनिवार्य नहीं) की जानकारी भी फॉर्म में भर कर देना होगी।

X
डेढ़ लाख से ज्यादा उपभोक्ता, पंजीयन नं. नहीं होने से 265 के ही बिल हो पाए माफ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..