--Advertisement--

वेबसाइट से डाउनलोड किया तो बिल 1189 रु. का, घर आया 1.55 लाख रु. का

मोजीपाड़ा में ज्योति प्रकाश सिंगाड़िया का घर है। बिजली कंपनी ने यहां 592 यूनिट रोजाना जलना बता कर 1.55 लाख रुपए का बिल भेज...

Dainik Bhaskar

Jul 15, 2018, 03:05 AM IST
मोजीपाड़ा में ज्योति प्रकाश सिंगाड़िया का घर है। बिजली कंपनी ने यहां 592 यूनिट रोजाना जलना बता कर 1.55 लाख रुपए का बिल भेज दिया है। 5030 रुपए की बिजली औसतन रोजाना जलना बता दिया है। जबकि बिजली कंपनी की वेबसाइट पर डाउनलोड करने पर बिल 1189 रुपए का ही बता रहा है। बता दें कि मेघनगर की औद्योगिक इकाइयों में भी एक दिन में इतनी बिजली नहीं जलती। अधिकतम 200 रुपए के बिजली बिल की योजना लागू होने के दौर में इतना भारी भरकम बिल हैरान करने वाला है। बिल आने के पहले घर मालिक प्रकाश सिंगाड़िया के मोबाइल पर जब एसएमएस आया तो उसमें जून माह का जुलाई में भुगतान किया जाने वाला बिल 1 लाख 55 हजार 943 रुपए का बताया गया। सिंगाड़िया को तब लगा कि त्रुटिवश एसएमएस ऐसा आ गया होगा लेकिन जब घर पर बिल आया तो वह भी 1.55 लाख का ही था। सिंगाड़िया दंग रह गए। पिछले महीने इस घर पर 1596 रुपए का बिल आया था। अधिभार के साथ 21 जून को 1616 रुपए का भुगतान किया था। सिंगाड़िया ने पश्चिम क्षेत्र बिजली कंपनी की वेबसाइट पर उपभोक्ता क्रमांक के जरिये बिल डाउनलोड किया तो उसमें 1189 रुपए का बिल होना बता रहा है।

प्रिंटिंग में त्रुटि है


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..