--Advertisement--

बालिकाएं तितली और परी की तरह नाजुक होती है

बालिकाएं तितली और परी की तरह नाजुक होती है झाबुआ | भारतीय स्त्री शक्ति द्वारा चलाए जा रहे कन्या जागरूकता...

Dainik Bhaskar

Jul 15, 2018, 03:05 AM IST
बालिकाएं तितली और परी की तरह नाजुक होती है
बालिकाएं तितली और परी की तरह नाजुक होती है

झाबुआ | भारतीय स्त्री शक्ति द्वारा चलाए जा रहे कन्या जागरूकता अभियान का समापन हुआ। एक सप्ताह तक संगठन की सदस्यों ने विभिन्न स्कूलों में जाकर छात्राओं को खुद सुरक्षा करने तथा गुड टच-बेड टच के बारे में बताया। अंतिम दिन शनिवार को उर्दू प्राथमिक विद्यालय हुड़ा व न्यू आजाद कॉन्वेंट में छात्राओं को जानकारी दी गई। मुख्य वक्ता रुक्मणी वर्मा ने छात्राओं की सुरक्षा को लेकर सुझाव दिए। उन्होंने कहा बालिकाएं तितली, परी और बुलबुल की तरह नाजुक होती है। उन्होंने कहा अगर हमारे आसपास कोई व्यक्ति हमारे साथ कुछ गलत करें तो इसकी जानकारी तुरंत अपने माता-पिता को दें। अगर स्कूल में किसी प्रकार का गलत व्यवहार कोई करता है तो प्राचार्य को इससे अवगत कराएं। लता देवल ने कहा अपने मन को मजबूत करें। प्रवीणा माथुर ने निजी अंगों के प्रति सतर्क कैसे होना इसे सूत्र के माध्यम से बताया। वंदना जोशी ने गुड टच-बेड टच को कविता के माध्यम से समझाया। कीर्ति देवल ने ‘हम करेंगे विरोध’ गीत से सजगता का संदेश दिया। संगठन की प्रदेश अध्यक्ष किरण शर्मा ने कहा अभियान 9 जुलाई से चल रहा था। उन्होंने पूरे सप्ताहभर चले अभियान पर विस्तार से प्रकाश डाला। संगठन की जिला अध्यक्ष उमा वार्ष्णेय ने विकासखंड स्तर पर होने वाले आयोजन की आगामी योजनों के बारे में बताया। इस अवसर पर विद्यालय की प्राचार्य अरुणा वरदिया, जहांआरा खान सहित स्टाफ सदस्य मौजूद थे।

X
बालिकाएं तितली और परी की तरह नाजुक होती है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..