Hindi News »Madhya Pradesh »Jhabua» हवन-पूजन के साथ भगवान आदिनाथ की प्रतिमा पर आंगी अर्पण की गई

हवन-पूजन के साथ भगवान आदिनाथ की प्रतिमा पर आंगी अर्पण की गई

श्री देवझिरी जैन तीर्थ पर 29 एवं 30 अप्रैल को दो दिवसीय महोत्सव का आयोजन आचार्यश्री सुयश सूरीश्वरजी की पावन निश्रा...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:15 AM IST

श्री देवझिरी जैन तीर्थ पर 29 एवं 30 अप्रैल को दो दिवसीय महोत्सव का आयोजन आचार्यश्री सुयश सूरीश्वरजी की पावन निश्रा में किया गया। सभी धार्मिक कार्यक्रम श्री आदिनाथ मणिभद्र पारमार्थिक ट्रस्ट देवझिरी द्वारा आयोजित किए गए।

श्री संघ के वरिष्ठ बाबूलाल कोठारी ने बताया कि 29 अप्रैल को सुबह 5.30 बजे भक्तामर स्त्रोत का मंगल पाठ, 7.30 बजे नवकारसी राजेशभाई हंसमुखभाई शाह दाहौद (गुजरात) द्वारा, 8.30 बजे आचार्य श्रीजी का मंगल प्रवेश हुआ। 11.30 बजे स्वामी भक्ति का आयोजन शाह दाहौद (गुजरात) की ओर किया गया। दोपहर 1.30 बजे श्री आदिनाथ पंच कल्याणक पूजन श्री आदिनाथ राजेन्द्र संगीत मंडल के ओएल जैन द्वारा संपन्न कराया गया। जिसके लाभार्थी बाबूलाल कोठारी परिवार थे। शाम 5 बजे स्वामी भक्ति का आयोजन स्व. सुजानमल एवं चंदाबाई कटारिया की स्मृति में प्रदीप जैन परिवार रानापुर द्वारा किया गया।

श्री नवपद पूजन का हुआ आयोजन

कार्यक्रम के दौरान बुद्ध पूर्णिमा पर प्रातः 5.30 बजे भक्तामर स्त्रोत का मंगल पाठ, 7 बजे अभिषेक एवं पूजन, 7.15 बजे नवरकारसी लाभार्थी नयनेशभाई जसवंतभाई शाह दाहौद (गुजरात) की ओर से, 8 बजे स्नात्र पूजन लाभार्थी अशोककुमार, तेजकरण, सर्वज्ञ, इशान जैन परिवार, 9 बजे परम पूज्य आचार्य श्री सुयश सूरीश्वरजी ने मंगल प्रवचन दिए। 10 बजे श्री नवपद पूजन श्री आदिनाथ राजेन्द्र संगीत मंडल के ओएल जैन द्वारा संपन्न करवाई गई। जिसका लाभ मधुकर, निशान शाह परिवार एवं अंकित कटारिया परिवार रहा। 11 बजे स्वामी वात्सल्य लाभार्थी स्व. अनोखीलाल मेहता एवं स्व. निर्मलाजी मेहता की स्मृति में निर्मलकुमार, राजेन्द्रकुमार, मनोजकुमार, प्रतीक, हर्ष, दर्ष एवं मेहता परिवार झाबुआ की ओर से रखा गया। श्री मणिभद्र वीर हवन पूजन भी किया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhabua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×