• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • टिकट मांगा तो दिव्यांग को आधा किराया लौटाया; 1 माह बाद भी नहीं लगी किराया सूची
--Advertisement--

टिकट मांगा तो दिव्यांग को आधा किराया लौटाया; 1 माह बाद भी नहीं लगी किराया सूची

दिव्यांग दुर्गेश पंवार शुक्रवार को के यादव बस से बदनावर से पेटलावद आ रहे थे। उनसे जब कंडक्टर ने 60 रुपए मांगे तो...

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2018, 03:25 AM IST
टिकट मांगा तो दिव्यांग को आधा किराया लौटाया; 1 माह बाद भी नहीं लगी किराया सूची
दिव्यांग दुर्गेश पंवार शुक्रवार को के यादव बस से बदनावर से पेटलावद आ रहे थे। उनसे जब कंडक्टर ने 60 रुपए मांगे तो दुर्गेश ने कहा-दिव्यांगों को 50% किराया माफ है, भास्कर की खबर बताऊं क्या। काफी बहस के बाद भी जब कंडक्टर नहीं माना 50 रुपए ले लिए। तो दुर्गेश ने भास्कर से मोबाइल पर संपर्क किया। उन्हें पूरे किराए का टिकट लेने के लिए कहा। जब उन्होंने पूरे किराए का टिकट मांगा तो कंडक्टर ने 20 रुपए लौटाए।

केस 1

दिव्यांगाें का आधा किराया माफ होने की जानकारी बसों में नहीं

दिव्यांगों का आधार किराया माफ है, एेसी सूचना किसी भी बस में नहीं लगाई गई है। न ही परिवहन विभाग ने ऐसी कोई व्यवस्था बनाई है। न टिकट दिए जा रहे हैं, न आरामदायक सीट जैसी मूलभूत यात्री सुविधा। फिर भी परिवहन विभाग कार्रवाई नहीं कर रहा है।

हम तो पूरा किराया ही दे रहे हैं, न बस वाले ने बताया न कहीं लिखा रहता है

दिव्यांग महिला संतू धन्ना झाबुआ बस स्टैंड पर आई। उसने बताया सुबह वह ढेकल से झाबुआ आई थी। अन्य यात्रियों के जितना ही 10 रुपए किराया लिया गया। जब भास्कर ने पूछा कि दिव्यांगों को आधा किराया माफ है, क्या आपको मालूम है। वे बोली-आज तक किसी बस वाले ने नहीं बताया। न ही बस में कहीं लिखा रहता है। हम तो पूरा किराया ही दे रहे हैं।

संतु बस स्टैंड पर बस का इंतजार करते हुए।

केस 2

प्रावधान समझने में ही लगा दिया एक सप्ताह

एआरटीओ राजेश गुप्ता ने 1 रुपए प्रति किमी (न्यूनतम 7 रु.) के अनुसार किराया सूची के फ्लेक्स पिछले सप्ताह छपवा लिए थे। तब एआरटीओ के सामने बस मालिकों ने दावा किया कि पहले किमी पर 7 रुपए और उसके बाद के हर किमी पर 1 रुपए किराया तय हुआ है, चाहे तो पुरानी अधिसूचनाएं चेक करवा लें। किराया सूची के फ्लेक्स सार्वजनिक स्थानों पर लगाना रोक कर एआरटीओ ने वरिष्ठ कार्यालय से प्रावधान स्पष्ट करने के बाद सूची जारी करने की बात कही थी। प्रावधान समझने में ही एक सप्ताह बीत गया।

अधिक किराया लेने वालों पर सख्त कार्रवाई करेंगे


X
टिकट मांगा तो दिव्यांग को आधा किराया लौटाया; 1 माह बाद भी नहीं लगी किराया सूची
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..