• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • तीन साल पहले बही रपट दोबारा नहीं बनाई, पैदल व बाइक से नदी पार कर रहे लोग, बहाव बढ़ने पर 12 किमी घूमकर जाना मजबूरी
--Advertisement--

तीन साल पहले बही रपट दोबारा नहीं बनाई, पैदल व बाइक से नदी पार कर रहे लोग, बहाव बढ़ने पर 12 किमी घूमकर जाना मजबूरी

झाबुआ | यह तस्वीर छोटा गुड़ा और शिवगढ़ के बीच तीन साल पहले बही रपट की है। प्रशासनिक उदासीनता के कारण पिछले तीन साल से...

Dainik Bhaskar

Aug 04, 2018, 03:30 AM IST
तीन साल पहले बही रपट दोबारा नहीं बनाई, पैदल व बाइक से नदी पार कर रहे लोग, बहाव बढ़ने पर 12 किमी घूमकर जाना मजबूरी
झाबुआ | यह तस्वीर छोटा गुड़ा और शिवगढ़ के बीच तीन साल पहले बही रपट की है। प्रशासनिक उदासीनता के कारण पिछले तीन साल से करीब 7000 की आबादी रोजाना इस नदी के पानी में उतर कर इस पार से उस पार जाते हैं। कोई पैदल तो कोई बाइक से। इस दौरान कई बार लोग गिर भी पड़ते हैं। जब बारिश अधिक होती है तो मार्ग से आवागमन बंद हो जाता है। लोगों को 12 किमी दूर थांदला घूमकर आना जाना पड़ता है।

चार स्कूलों के बच्चे नहीं जा पाते पढ़ने

छोटा गुड़ा मावि, चैनपुरा हायर सेकंडरी, शिवगढ़ हाईस्कूल और नौगांवा हायर सेकंडरी स्कूल के बच्चे भी इसी पानी से होकर स्कूल जाते हैं। शुक्रवार को पानी से निकल कर उस पार जा रही बच्ची पुष्पा से जब पूछा तो उसने कहा-जब पानी ज्यादा रहता है तो घर पर ही रहते हैं। स्कूल नहीं जाते। उसने बताया वह अब तक दो बार यहां गिर चुकी है। चोट भी लगी।

ट्रेन पकड़ने के लिए यही रास्ता

शिवगढ़, महुड़ा समेत करीब चार गांवों के लोगों को थांदला रोड से ट्रेन पकड़ना पड़ती है। उनके लिए रेलवे स्टेशन जाने का यही रास्ता है। महुड़ा के धुलिया परमार ने बताया-पानी बढ़ता है तो थांदला घूमकर जाते हैं। बच्चों के स्कूल की छुट्टी हो जाती है।

निर्माण का प्रस्ताव भेजा था मंजूर नहीं हुआ


X
तीन साल पहले बही रपट दोबारा नहीं बनाई, पैदल व बाइक से नदी पार कर रहे लोग, बहाव बढ़ने पर 12 किमी घूमकर जाना मजबूरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..