विज्ञापन

सांसारिक से ज्यादा आत्मा की जवाबदारी निभाएं

Bhaskar News Network

Aug 10, 2018, 03:40 AM IST

Jhabua News - हर श्रावक को दिन में कम से कम एक बार दिनभर किए गए पाप कार्य के लिए प्रायश्चित जरूर करना चाहिए। इससे कर्मो में...

सांसारिक से ज्यादा आत्मा की जवाबदारी निभाएं
  • comment
हर श्रावक को दिन में कम से कम एक बार दिनभर किए गए पाप कार्य के लिए प्रायश्चित जरूर करना चाहिए। इससे कर्मो में हल्कापन आता है। काउसग्ग 12 प्रकार के तप में से एक तप है। साध्वीश्री प्रमादयशाश्रीजी ने कहा कि व्यक्ति को सांसारिक कार्यों की जवाबदारी ज्यादा निभाने की बजाए आत्मा की जवाबदारी ज्यादा निभाना चाहिए।

यह बात साध्वीश्री पुनीतप्रज्ञाश्रीजी ने कही। वे बावन जिनालय में चातुर्मास के दौरान प्रवचन दे रही थी। उन्होंने कहा वर्तमान में मानव धर्म कार्य इसलिए नहीं कर पा रहा है क्योंकि वह सांसारिक जवाबदारी निभाने में लगा हुआ है। साध्वीश्रीजी ने संसार का स्वरूप समझने पर जोर देते हुए कहा संसार पर हमें खेद होगा तो ही सही भावनाओं पर चिंतन हो सकेगा। विवेक जागृत होगा तो आत्मिक सुख प्राप्त होने लगेगा। व्यक्ति प्रमाद करता है तो कर्मो का गाड़ा बंध होता है, प्रमाद सबसे बड़ा आश्रव माना जाता है। संसार में व्यक्ति को अल्प परिग्रही बनना चाहिए। संसार के कार्य में आसक्ति कम होने से भला होगा। आज वर्धमान तप के पाए वाले तपस्वियों के 5वीं तड़ी व चत्तारी बट्ठ दस दोय तपस्या में तपस्वियों के 10 उपवास प्रारंभ हुए।

बावन जिनालय में साध्वीश्री पुनीतप्रज्ञाश्रीजी ने समाजजनों को दी समझाइश

तत्वज्ञान शिविर के पहले भाग की परीक्षा हुई जिसमें समाज की महिलाएं शामिल हुई।

आराधकों ने की आयंबिल तपस्या

चातुर्मास के दौरान 753 आयंबिल तपस्या आराधकों ने की। लगभग 50 आयंबिल के तप प्रतिदिन तपस्वी कर रहे हैं। पूरे माह आयंबिल करवाने का लाभ धर्मचंद मेहता परिवार द्वारा लिया जा रहा है। इस अवसर पर तपस्वियों को योगेश बापू परिवार की ओर से चांदी के सिक्के भेंट किए जाने की घोषणा भी की गई। श्री संघ अध्यक्ष संजय मेहता, उपाध्यक्ष बाबूलाल कोठारी, जितेंद्र जैन, रिंकु रुनवाल, अंतिम जैन, उल्लास जैन ने समस्त कार्यक्रमों में सहभागिता की। वहीं चातुर्मास में चल रहे तत्वज्ञान शिविर के पहले भाग की परीक्षा का आयाेजन किया गया। सुबह 12 पुरुषों ने परीक्षा दी जबकि शाम को समाज की 45 महिलाओं ने भाग लिया। परीक्षा में शिविर के दौरान दी जा रही शिक्षा पर आधारित प्रश्न पूछे गए।

X
सांसारिक से ज्यादा आत्मा की जवाबदारी निभाएं
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन