--Advertisement--

वैष्णवता एक ऐसा संबंध है जो एक वैष्णव को दूसरे वैष्णव से जोड़ता है

राणापुर | वैष्णव संप्रदाय के गुरुजी 108 दिव्येशकुमारजी गुरुवार शाम राणापुर आए। स्थानीय वैष्णवजनों ने रामद्वारा पर...

Dainik Bhaskar

Jul 21, 2018, 03:45 AM IST
वैष्णवता एक ऐसा संबंध है जो एक वैष्णव को दूसरे वैष्णव से जोड़ता है
राणापुर | वैष्णव संप्रदाय के गुरुजी 108 दिव्येशकुमारजी गुरुवार शाम राणापुर आए। स्थानीय वैष्णवजनों ने रामद्वारा पर उनकी जोरदार अगवानी की। वे इंदौर, नाथद्वारा, जोलाना, बांसवाड़ा, झाबुआ, खेतिया, आलीराजपुर एवं राणापुर के 14 से 19 जुलाई तक के प्रवास पर है। इन सभी स्थानों पर महाराजश्री का स्वागत हुआ। उन्होंने सभी जगह कई वैष्णवो को ब्रम्हसंबंध प्रदान किया गया। राणापुर में धर्मसभा हुई। जिसमें उन्होंने कहा वैष्णवता एक ऐसा संबंध है जो एक वैष्णव को दूसरे वैष्णव से जोड़ता है। इस संबंध की कड़ी है सेवा और सत्संग। इसी के माध्यम से वैष्णव में वैष्णवता के गुण विकसित होते हैं। उन्होंने जनवरी 2019 में आयोजित होने वाली दिव्य अलौकिक दंडवती यात्रा में पधारने का सभी वैष्णवों को निमंत्रण दिया। संचालन गोपाल कृष्ण हरसोला ने किया।

X
वैष्णवता एक ऐसा संबंध है जो एक वैष्णव को दूसरे वैष्णव से जोड़ता है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..