Hindi News »Madhya Pradesh »Jhabua» महासम्मेलन में दूसरे प्रदेशाें के कई आदिवासी वक्ता पहुंचे, सभा के बाद महारैली निकाली गई

महासम्मेलन में दूसरे प्रदेशाें के कई आदिवासी वक्ता पहुंचे, सभा के बाद महारैली निकाली गई

आदिवासी दिवस पर गुरुवार को उत्कृष्ट विद्यालय मैदान में विभिन्न संगठनों ने महासम्मेलन हुआ। इसमें हजारों समाजजन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 03:45 AM IST

  • महासम्मेलन में दूसरे प्रदेशाें के कई आदिवासी वक्ता पहुंचे, सभा के बाद महारैली निकाली गई
    +1और स्लाइड देखें
    आदिवासी दिवस पर गुरुवार को उत्कृष्ट विद्यालय मैदान में विभिन्न संगठनों ने महासम्मेलन हुआ। इसमें हजारों समाजजन शामिल हुए। प्रदेश के साथ ही अन्य प्रदेशों के वक्ता भी पहुंचे। सभा हुई, जिसमें सभी ने समाज में एकजुटता का आह्वान किया। सभा के बाद महारैली निकाली गई। सम्मेलन को भीली बोली में संबोधित करते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष कलावती भूरिया ने कहा-कुछ लोग हमें वनवासी कहने लग गए हैं। मैं पूछती हूं-हम क्या बंदर हैं। हम घर बना कर रह रहे, हमें वनवासी क्यों कहते हो। हम आदिवासी हैं। उन्होंने दहेज-दापा और शराब की कुरीति पर भी नियंत्रण की आवश्यकता बताई।

    जयस के जिला संयोजक महेश भाबर ने कहा-यहां कोई पार्टी की बात नहीं करेगा। यह राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है। हमारा शोषण होता रहा है। हमें एकजुट होकर दिखाना होगा कि वोट की ताकत क्या है। जय भीम के एमएल फुलपगारे ने कहा-हम लोग अलग-अलग संगठन से हैं लेकिन हमारा उद्देश्य एक है कि समाज को आगे बढ़ाना है। हमारी एकता को बिखेरने के लिए लोग षडयंत्र कर रहे हैं। हमें एकता बनाए रखना है। राजस्थान से आए थावरचंद्र सारेल ने कहा-इस देश में ऐसी कई जातियां आईं, जिन्होंने हमें गुलाम बनाया। उन्हें संपत्ति रखने और शिक्षा लेने का अधिकार होता था, हमें नहीं। उस गुलामी का हम अहसास करते रहेंगे तो अपने अधिकारों के लिए लड़ते रहेंगे।

    ..अधर हमारे उस पर ताले तुम्हारे -राजस्थान से आए प्रताप अमलियार ने कहा-आदिवासियों के हितों की बात करने वाले नेता संसद में जाकर चंद लाइनें गाते हैं। वे मैं आपको सुनाता हूं-अंधेरे तुम्हारे उजाले तुम्हारे, अधर (होंठ) हमारे उस पर ताले तुम्हारे, जब तुमने चाहा बंद किया ताला, जब तुमने चाहा, इन्हें खोल डाला, अदालत तुम्हारी तुम्ही न्यायकर्ता लेकिन हमें ठग रही है वकालत तुम्हारी। जनपद सदस्य हेमचंद्र डामाेर, पूर्व विधायक वालसिंह मेड़ा, जयस उपाध्यक्ष कैलाश डामोर आदि ने भी संबोधित किया।

    आदिवासी समाज द्वारा डीजे के साथ शहर में रैली निकाली। रैली का रास्तेभर विभिन्न संगठनों ने स्वागत किया।

    ... इधर सरकारी कार्यक्रम में हुआ सीएम के भाषण का सीधा प्रसारण, बच्चों ने दी विभिन्न प्रस्तुतियां

    राजबाड़ा चौक के पास पैलेस गार्डन में जनजातीय कार्य विभाग की ओर से आदिवासी महोत्सव रखा गया। यहां मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के धार में हुए कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया गया। भीली भाषा में झाबुआ विधायक शांतिलाल बिलवाल ने कहा आदिवासी वर्ग के कतिपय लोग जो पढ़ लिख कर अधिकारी या उच्च पदों पर आसीन हो गए हैं वे अपनी पुरातन संस्कृति को भूल गए हैं। इन्हे सिर्फ पदोन्नति में आरक्षण तथा स्वयं के हितलाभ के लिए संगठन बना कर आदिवासी समाज का दुरुपयोग करने लगे हैं। प्रधानमंत्री मोदी एवं शिवराजसिंह चौहान ने आरक्षण को लेकर कोर्ट में भी पैरवी करके आदिवासियों के अधिकारों के लिए अपनी भूमिका निभा रहे है। पेटलावद विधायक निर्मला भूरिया ने कहा नई पीढ़ी शहरों में जाकर बस रही है उन्हें अपनी संस्कृति एवं परंपराओं की जानकारी होना चाहिए। मांदल और थाली की थाप सुनाई नहीं देती, इसकी जगह डीजे ने ले ली है। कार्यक्रम में दोपहर 1 बजे पहुंचे थांदला विधायक कलसिंह भाबर ने भीली भाषा में शादी ब्याह की रस्मों के महत्व एवं परम्परा की विस्तार से जानकारी दी। पूर्व विधायक स्वरूपबाई भाबर, कलेक्टर आशीष सक्सेना, जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े, श्यामा ताहेड़, राजू डामोर, बहादुर हटीला, थावरसिंह भूरिया, शैलेंद्रसिंह सोलंकी, सहायक आयुक्त गणेश भाबर सहित बड़ी संख्या में जन प्रतिनिधि, भाजपा नेता, हितग्राही एवं छात्र छात्राएं उपस्थित थे। अतिथियों ने शालेय प्रतियोगिता, शिक्षा, चिकित्सा, एनआईटी परीक्षा लोक सेवा आयोग की परीक्षा में सफलता अर्जित करने तथा जिले का नाम रोशन करने वाले बच्चों एवं बालिकाओं का शील्ड देकर सम्मानित किया। वनाधिकारी के तहत हितग्राहियों के अधिकार पत्रों का वितरण भी किया गया। विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने आदिवासी लोक नृत्य पर आधारित कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।

  • महासम्मेलन में दूसरे प्रदेशाें के कई आदिवासी वक्ता पहुंचे, सभा के बाद महारैली निकाली गई
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhabua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×