Hindi News »Madhya Pradesh »Jhabua» बीमार महिला के लिए नहीं था खाली पलंग तो पति ने जमीन पर चादर बिछाकर लिटाया

बीमार महिला के लिए नहीं था खाली पलंग तो पति ने जमीन पर चादर बिछाकर लिटाया

पलंग नहीं मिलने पर बीमार सुमन को पति ने जमीन पर चादर बिछाकर लिटाया। पुराना एसी भी हुआ खराब डायलिसिस कक्ष में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 17, 2018, 03:50 AM IST

बीमार महिला के लिए नहीं था खाली पलंग तो पति ने जमीन पर चादर बिछाकर लिटाया
पलंग नहीं मिलने पर बीमार सुमन को पति ने जमीन पर चादर बिछाकर लिटाया।

पुराना एसी भी हुआ खराब

डायलिसिस कक्ष में एक एसी लगा हुआ है, जो पिछले दस दिनों से बंद है। कई बार इसे ठीक किया गया लेकिन फिर इसमें खराबी आ जाती है। बावजूद अस्पताल प्रबंधन ने यहां नया एसी लगाने की सुध नहीं लगी। जबकि अस्पताल के अन्य वार्डों कई एसी लगाए गए हैं, जिनका कनेक्शन ही नहीं जोड़ा गया है। जबकि डायलिसिस कक्ष में मरीजों को एसी की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती है।

जल्द से जल्द वाटर प्रूफिंग की जाएगी : सिविल सर्जन

यह सच है कि एसी कुलिंग नहीं कर पा रहा है। हमने पानी के लिए तीन वाटर कूलर और एक ऐसी के लिए प्रस्ताव बनाया है। रही बात पानी टपकने की तो पीडब्ल्यूडी को यहां वाटर प्रूफिंग करने को कहा गया है। आरएस प्रभाकर, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल, झाबुआ

रिचार्ज नहीं कराया तो कई दिनों से बंद है टीवी

एक डायलिसिस में साढ़े तीन से चार घंटे का वक्त लगता है। ऐसे में मरीज व अटेंडर के मनोरंजन के लिए कक्ष में टीवी लगा रखा है, जो लंबे समय से बंद पड़ा हुआ। बताया जा रहा है अस्पताल प्रबंधन ने सेटअप बॉक्स रिचार्ज नहीं कराया है, इस वजह से टीवी चालू ही नहीं हो पाती। जबकि गत दिनों कलेक्टर ने निरीक्षण में वृद्धजन वार्ड में बंद टीवी देख सिविल सर्जन को टीवी चालू करने के निर्देश दिए थे।

यह भी आती है समस्या

डायलिसिस कक्ष के आसपास कहीं भी पेयजल की व्यवस्था नहीं है।

अटेंडर के लिए अलग से ना वेटिंग रूम है ना ही मरीज के लिए अलग से बेड।

दीवारों से रिसकर बारिश का पानी आता है, जिसकी मरम्मत नहीं की जा रही।

परिसर में वाहनों की पार्किंग की भी ठीक व्यवस्था नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhabua

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×