• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • लिखित परीक्षा : त्रुटि सुधार और 50 रुपए भुगतान की बाध्यता खत्म हुई
--Advertisement--

लिखित परीक्षा : त्रुटि सुधार और 50 रुपए भुगतान की बाध्यता खत्म हुई

Jhabua News - झाबुआ | असिस्टेंट प्रोफेसर की लिखित परीक्षा के सभी आवेदकों के लिए त्रुटि सुधार जरूरी नहीं है। इसके साथ ही उन्हें 50...

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2018, 03:50 AM IST
लिखित परीक्षा : त्रुटि सुधार और 50 रुपए भुगतान की बाध्यता खत्म हुई
झाबुआ | असिस्टेंट प्रोफेसर की लिखित परीक्षा के सभी आवेदकों के लिए त्रुटि सुधार जरूरी नहीं है। इसके साथ ही उन्हें 50 रुपए का भुगतान भी नहीं करना है। पीएससी ने ये दोनों बाध्यता खत्म कर दी हैं। उन्हीं आवेदकों को करेक्शन करना है, जिनके आवेदन में रिमार्क लगा हुआ है। असिस्टेंट प्रोफेसर परीक्षा के आवेदकों को बड़ी राहत मिली है। पीएससी ने आवेदन की जानकारी में सुधार और 50 रुपए भुगतान की बाध्यता खत्म कर दी है। अब उन्हीं आवेदकों को जानकारी अपडेट करना होगी, उच्च शिक्षा विभाग ने जिनके सत्यापन में गलती बताई है। ऐसे आवेदकों के फॉर्म में रिमार्क की व्यवस्था कर दी गई है। यानी रिमार्क देखकर पीजी के प्रतिशत अंक दोबारा भरना होंगे। इसी तरह जिन अतिथि विद्वानों के दस्तावेजों में कमियां हैं, उन्हें भी संबंधित कॉलम में यही रिमार्क दिखाई देगा। इसके लिए आवेदकों को 50 रुपए चुकाना होंगे। आयोग के मुताबिक जिनके आवेदन में रिमार्क नहीं है, उनकी जानकारी सही है।

आयोग ने अपनी वेबसाइट पर इस संबंध में संधोधित सूचना अपलोड कर दी है। पहले आयोग सभी आवेदकों से त्रुटि सुधार करवा रहा था। इसके नाम पर हर आवेदक से 50 रुपए वसूले जा रहे थे। अब यह व्यवस्था बदली जा चुकी है। आयोग ने आवेदनों में गलती सुधार की तारीख भी अब बढ़ाकर 4 अगस्त कर दी है। पीएससी ने अपनी वेबसाइट पर नई सूचना प्रकाशित की है। इसमें सही जानकारी वाले आवेदकों को त्रुटि सुधार से छूट और 50 रुपए नहीं चुकाने का तो जिक्र है, लेकिन जो आवेदक संशोधन के नाम पर पहले 50 रुपए भर चुके हैं, उनकी राशि रिफंड करने के बारे में कुछ भी नहीं कहा गया है।

X
लिखित परीक्षा : त्रुटि सुधार और 50 रुपए भुगतान की बाध्यता खत्म हुई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..