झाबुआ

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • देशभक्ति गीत केवल 7, इन्हीं में से 15 अगस्त के लिए तैयार करो प्रस्तुति
--Advertisement--

देशभक्ति गीत केवल 7, इन्हीं में से 15 अगस्त के लिए तैयार करो प्रस्तुति

देशभक्ति केवल सात गीतों में ही झलकती है। ऐसा कन्या उमावि के संकुल प्राचार्य ओम वर्मा का मानना है। उन्होंने...

Dainik Bhaskar

Aug 03, 2018, 03:50 AM IST
देशभक्ति केवल सात गीतों में ही झलकती है। ऐसा कन्या उमावि के संकुल प्राचार्य ओम वर्मा का मानना है। उन्होंने बाकायदा निजी स्कूलों को पत्र जारी कर लिखा है कि इन्हीं सात गीतों में से एक पर आपको स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के लिए बच्चों की सांस्कृतिक प्रस्तुत तैयार करवानी है। जब इसके बारे में भास्कर ने पड़ताल की तो अंत में यह सामने आया कि निर्देश कुछ ओर थे, समझा कुछ और गया, जिसके कारण स्कूलों को यह पत्र जारी हो गया।

दरअसल पत्र में कन्या उमावि संकुल प्राचार्य वर्मा ने पत्र सहायक आयुक्त (आदिवासी विकास विभाग) के निर्देशानुसार लिखना बताया है लेकिन जब भास्कर ने सहायक आयुक्त गणेश भाबर से सवाल किया तो उन्होंने कहा-मैं स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारी की बैठक में नहीं था। न ही मैंने ऐसे निर्देश दिए हैं। प्राचार्य से पूछता हैं, क्यों पत्र जारी किया है। सहायक आयुक्त भाबर के जवाब पर जब संकुल प्राचार्य वर्मा से सवाल किया तो उन्होंने कहा सहायक आयुक्त ने नहीं, एपीए (सहायक परियोजना प्रशासक आईटीडीपी झाबुआ) भारतसिंह चौहान ने सात गीत लिख कर दिए थे। उन्हें आगे से मार्गदर्शन मिला था। जब एपीए चौहान से भास्कर ने सवाल किया तो उन्होंने कहा-प्राचार्य को सरकारी स्कूलों की प्रस्तुतियाें के लिए सात गीत सुझाए थे। निजी स्कूलों के लिए वे गीत नहीं थे। निर्देश साफ हैं कि देशभक्ति गीत होना चाहिए, रिमिक्स वाले फूहड़ गीत नहीं होना चाहिए। फायनल सिलेक्शन निजी स्कूल की प्रस्तुतियां देखने के बाद समिति करती ही है, उसमें यदि कुछ गलत होगा तो बदलाव करते हैं। संकुल प्राचार्य ने गलत पत्र जारी कर दिया, उन्हें सात गाने लिख कर पत्र जारी नहीं करना चाहिए था।

X
Click to listen..