--Advertisement--

अब सीबीएसई से हर 5 साल में लेनी होगी मान्यता

Dainik Bhaskar

Jul 16, 2018, 03:55 AM IST

Jhabua News - अब सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) से स्कूलों को हर पांच साल में मान्यता लेने के लिए बोर्ड को आवेदन करना...

अब सीबीएसई से हर 5 साल में लेनी होगी मान्यता
अब सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) से स्कूलों को हर पांच साल में मान्यता लेने के लिए बोर्ड को आवेदन करना होगा। उन्हें पहले की तरह एक बार में स्थाई मान्यता नहीं मिलेगी। हाल ही में सीबीएसई ने मान्यता लेने की आवेदन प्रक्रिया में बदलाव किया है। जिसको लेकर सभी स्कूलों को निर्देश जारी कर दिए हैं कि अब उन्हें स्थाई मान्यता नहीं मिलेगी, बल्कि उन्हें मान्यता लेने के लिए नए नियमों के तहत आवेदन करना होगा। जिले में सीबीएसई से संबंधित 26 स्कूल संचालित हैं, ऐसे में प्रत्येक स्कूल को 2019-2020 सेशन से नए नियमों के मुताबिक मान्यता के लिए आवेदन करना होगा।पहले स्कूल की एक रिपोर्ट बना कर बोर्ड को भेजनी होगी। इसमें स्कूल की इमारत की जानकारी, सुरक्षा मानक, बाउंड्रीवाल, इंटरनेट, क्लासरूम, स्टूडेंट्स और टीचर्स की संख्या, टीचर्स रेशियो, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्पोर्ट्स ग्राउंड, स्कूल एक्टिविटीज, स्कूल का रिजल्ट, टीचर्स की योग्यता, बस में सुरक्षा मानक, लैबोरेट्रीज आदि बिंदुओं पर जानकारी देनी होगी। इस रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड संबंधित स्कूल को मान्यता देगा।

नया नियम

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन ने मान्यता प्रक्रिया में बदलाव किया है

पहले ये थे नियम : अभी तक 15 साल पुराने स्कूल को स्थाई मान्यता मिल जाती थी। इसको लेकर उन्हें बार-बार मान्यता के लिए आवेदन नहीं करना पड़ता था।

अब आए ये नियम : अब इस प्रक्रिया में बदलाव होने से स्कूलों के लिए नए नियम बना दिए गए हैं। जिसके तहत सभी नए और पुराने स्कूलों को हर पांच साल में सीबीएसई की ओर से प्रोविजनल एफिलिएशन दिया जाएगा। यदि किसी स्कूल का एफिलिएशन 2019 में खत्म हो रहा है तो उसे सभी दस्तावेज को सीबीएसई को भेजना होगा, तभी उसे मान्यता मिलेगी।

शिक्षा गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एनसीईआरटी ने दिया सुझाव

झाबुआ |
राष्ट्रीय शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) ने सुझाव दिया है कि विद्यालय प्रबंधन समिति को माह में कम से कम एक बार अपनी बैठक आयोजित करनी चाहिए। इसकी लिखित सूचना बैठक से तीन दिन पहले अभिभावकों को देनी चाहिए। एनसीईआरटी ने यह सुझाव स्कूलों में शिक्षा के माहौल एवं गुणवत्ता को बेहतर बनाने तथा सहयोगी वातावरण तैयार करने के लिए दिया है।

छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन करना होंगे आवेदन

झाबुआ | अल्पसंख्यक वर्ग के छात्र-छात्राओं को मिलने वाली नेशनल स्कॉलरशिप के लिए आवेदन पोर्टल पर ऑनलाइन भरे जा रहे हैं। ये ऑनलाइन ही स्वीकार किए जाएंगे। ऑफलाइन आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र में संचालित अनुदान प्राप्त मदरसों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते हैं।

X
अब सीबीएसई से हर 5 साल में लेनी होगी मान्यता
Astrology

Recommended

Click to listen..