--Advertisement--

रायपुरिया से अपहृत नाबालिग लड़की कोटा से बरामद हुई

दो महीनों में पुलिस टीमों ने आरोपी के निवास स्थान जिला नीमच व रिश्तेदारों के यहां दी दबिश भास्कर संवाददाता |...

Danik Bhaskar | Jul 25, 2018, 03:55 AM IST
दो महीनों में पुलिस टीमों ने आरोपी के निवास स्थान जिला नीमच व रिश्तेदारों के यहां दी दबिश

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

चुनौती बने प्रकरण में पुलिस ने रायपुरिया से अपहृत हुई 17 वर्षीय नाबालिग लड़की को राजस्थान के कोटा में ढूंढ निकाला। उसके साथ आरोपी रोहन पिता विनोद गाेयर निवासी नीमच को भी हिरासत में लिया है।

लड़की के पिता और पाटीदार समाजजनों ने थाना रायपुरिया एवं वरिष्ठ अधिकारियों को लगातार लड़की का पता लगाने के आवेदन दिए थे। कुछ दिन पहले समाज की ओर से चेतावनी भी दी गई थी कि जल्द पता नहीं लगाया गया तो समाज धरना प्रदर्शन करेगा। कानून व्यवस्था की स्थिति बनने की आशंका के चलते एसपी महेशचंद जैन ने एसडीओपी तथा थाना प्रभारी रायपुरिया को हर संभावित स्थान पर दबिश देने और दिन प्रतिदिन प्रकरण की विवेचना की मानीटरिंग करने को कहा।

दो महीनों में पुलिस टीमों ने आरोपी के निवास स्थान जिला नीमच, उसके रिश्तेदारों तथा दोस्तों के यहां दबिश दी। सूचना मिलने पर दो बार पुणे (महाराष्ट्र), नीमच/मंदसौर, चित्तौड़, उदयपुर, रतलाम आदि स्थानों पर दबिश दी लेकिन आरोपी और नाबालिग लड़की बार-बार अपने रुकने का स्थान बदलते रहे। आरोपी एवं अपहर्ता को भगाने में मदद करने वाले आरोपी के दो साथियों को पुलिस ने आरोपी बनाकर गिरफ्तार भी किया। आखिरकार पुलिस को आरोपी व नाबालिग लड़की को कोटा(राजस्थान) से बरामद करने में सफलता मिली। पुलिस टीम को एसपी जैन ने 10000 रुपए का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है।