• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • पुरानी पेयजल लाइन को बचाने के लिए नई लाइन पुल पर डाल कर संकरी करेंगे सड़क
--Advertisement--

पुरानी पेयजल लाइन को बचाने के लिए नई लाइन पुल पर डाल कर संकरी करेंगे सड़क

Jhabua News - शहर में नई पेयजल योजना के तहत पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है। करीब दस दिन पहले रामकुल्ला नाले की रैलिंग पर मेन...

Dainik Bhaskar

Jun 27, 2018, 04:00 AM IST
पुरानी पेयजल लाइन को बचाने के लिए नई लाइन पुल पर डाल कर संकरी करेंगे सड़क
शहर में नई पेयजल योजना के तहत पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है। करीब दस दिन पहले रामकुल्ला नाले की रैलिंग पर मेन लाइन के पाइप लटकाए गए थे उन्हें वहां से हटाकर पुल की सड़क पर रखा जाएगा। पुल पर सड़क संकरी हो जाएगी। यह बदलाव वार्ड पार्षद और पीएचई की आपत्ति के बाद किया जा रहा है।

पाइप लाइन डालने के काम में विलंब होता जा रहा है। पाइप लाइन रामकुल्ला नाले की सड़क से होकर जाएगी या पुल की रैलिंग के पीछे से इसका निर्णय लेने में ही नपा ने पूर्व में काफी समय लगा दिया था। अब करीब दस दिन पहले नपा और पाइप लाइन डालने वाली कंपनी ने रैलिंग से सटाकर गर्डर पर पाइप लटकाए थे। इसके तुरंत बाद ही नेहरू मार्ग की ओर खुदाई कर पाइप भी डाल दिए थे। यहीं से मामला गड़बड़ाया। दरअसल, नए पाइप पीएचई की पुरानी पाइप लाइन के ऊपर ही डाल दिए गए थे। ऐसे में पीएचई के एई एसके तिवारी ने आपत्ति ली थी। उनका कहना था यदि पुरानी लाइन में लीकेज होता है या अन्य परेशानी आती है तो उसे दुरुस्त कैसे किया जाएगा। उन्होंने नपा के सब इंजीनियर को इससे अवगत कराया था। लेकिन इसके बाद भी पाइप जमीन में उतार दिए गए।

पुल की रेलिंग पर गर्डर डालकर लटकाए गए पाइप अब सड़क पर पुल से सटाकर शिफ्ट किए जाएंगे। इससे पुल संकरा होगा और रात के समय बत्ती गुल होने पर वाहन भी टकराएंगे।

फिर रास्ता बंद होगा, पुल भी हो जाएगा संकरा

पाइप लाइन डालने के लिए दस दिन पहले गड्ढा खोदा गया था, इस वजह से भोज मार्ग की ओर जाने वाला रास्ता दिनभर बंद रहा था। एक बार फिर खुदाई कर पाइप निकालने और उसे दोबारा डालने में पुन: रास्ता ब्लॉक होने की स्थिति बनेगी। पुल पर भी हमेशा के लिए सड़क संकरी हो जाएगी। पुल की चौड़ाई सात मीटर है। करीब दो फीट चौड़ाई कम हो जाएगी।

दो जेसीबी लगाकर निकालना पड़ेंगे पाइप : पाइप लाइन डालने वाली कंपनी से मिली जानकारी के अनुसार गर्डर पर लटकाए गए पाइप को हटाने में अब दो जेसीबी लगेगी। एक जेसीबी पाइप को पकड़ेगी जबकि दूसरी उसे उठाकर सड़क पर रखेगी। पुरानी पाइप लाइन के ऊपर डाले गए पाइप भी निकालकर जगह छोड़कर फिर से डाले जाएंगे।

पार्षद ने भी ली आपत्ति

नाली टूटी, गड्ढा भी हो गया

रामकुल्ला नाले से सीधे पाइप लाइन चली जाए इसलिए दुकानों के आगे ही खुदाई कर दी गई थी। इससे पुरानी नाली टूट गई और गंदा पानी सड़क पर ही बहने लगा। चूंकि नीचे पुरानी लाइन थी इसलिए खुदाई भी ज्यादा नहीं हो पाई और पाइप भी ऊपर ही दिखाई दे रहे हैं। इससे समीप की दुकानों के दरवाजे खाेलने में भी परेशानी आई। इसके बाद वार्ड क्रमांक 8 की पार्षद प्रीति जितेंद्र पांचाल ने आपत्ति ली। उन्होंने पुल के पास हुए गड्ढे को लेकर भी नाराजगी जताई। इससे नपा के सब इंजीनियर कमलकांत जोशी और पाइप लाइन डालने वाले प्रोजेक्ट मैनेजर को भी अवगत कराया। इस पूरी कवायद और आपत्ति के बाद पाइप लाइन दूसरी जगह से निकाली जाएगी, मगर नई जगह से पाइप लााइन निकालने से सड़क संकरी हो जाएगी।

नपा इंजीनियर पहले सुन लेते तो आज यह स्थिति नहीं बनती : तिवारी


X
पुरानी पेयजल लाइन को बचाने के लिए नई लाइन पुल पर डाल कर संकरी करेंगे सड़क
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..