• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक का आधार पंजीयन केंद्र 4 दिन से बंद, लोग परेशान
--Advertisement--

नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक का आधार पंजीयन केंद्र 4 दिन से बंद, लोग परेशान

Jhabua News - भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर जिला मुख्यालय पर पांच आधार पंजीयन केंद्रों पर इन दिनों लोगों को आधार नामांकन और...

Dainik Bhaskar

Jul 08, 2018, 04:00 AM IST
नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक का आधार पंजीयन केंद्र 4 दिन से बंद, लोग परेशान
भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर

जिला मुख्यालय पर पांच आधार पंजीयन केंद्रों पर इन दिनों लोगों को आधार नामांकन और त्रुटि सुधार कार्य करवाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। किसी केंद्र पर सर्वर डाउन होने की समस्या आम बात है तो किसी केंद्र पर अनावश्यक दस्तावेजों के लिए लोगों पर दबाव बनाया जाता है। सभी केंद्रों पर प्रतिदिन 150 नामांकन व त्रुटि सुधार के कार्य होने की क्षमता है। लेकिन किसी केंद्र पर 10 से 15 तो किसी पर अधिकतम 60 से 70 आधार कार्ड के कार्य ही हो पा रहे है। ऐसेे में ग्रामीण क्षेत्रों से किराया खर्च कर पहुंचने वाले लोगों को बार-बार चक्कर लगाने के लिए मजबूर होना पड़ता है।

बस स्टैंड के समीप स्थित नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक के अधीनस्थ आधार कार्ड सेंटर पिछले चार दिनों से बंद है। बस स्टैंड के समीप होने से यहां बड़ी संख्या में लोग पहुंचते है, लेकिन सेंटर बंद मिलने से उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। इस संबंध में सेंटर के कर्मचारी राजेंद्रसिंह भंवर ने बताया कि स्कैनर खराब होने के कारण बुधवार से कुछ भी काम नहीं हो पा रहा है। जबकि इसके एक दिन पहले मंगलवार को सर्वर डाउन होने से आधे दिन काम नहीं हो पाया था। उन्होंने बताया कि स्कैनर खराब होने के संबंध में इंदौर स्थित ओसवाल कंपनी को अवगत करा दिया गया है। लेकिन कंपनी द्वारा स्कैनर भेजने में देरी की जा रही है। कॉल करने पर हर बार जवाब दिया जा रहा है कि कल भिजवा देंगे। उन्होंने बताया कि हमारे सेंटर पर प्रतिदिन 35 से 36 आधार कार्ड का करेक्शन व एनरोलमेंट किया जाता है। सेंटर पर पहुंचे मोरधी, छकतला, सोरवा, चिखोड़ा, रिछवी, सिलोटा आदि क्षेत्रों के कई ग्रामीण केंद्र बंद होने से इंतजार कर वापस लौट गए। ग्राम मोरधी के शंकर, दिलीप व पलक, चिखोड़ा के हितेश व सोनू, बिलझर के कमलेश आदि ने बताया कि हमारे आधार कार्ड में गलत जानकारियां दर्ज होने के कारण त्रुटि सुधार करवाने के लिए आए थे। सुबह से सेंटर खुलने का इंतजार कर रहे है। बाद में पता चला कि मशीन में खराबी के कारण सेंटर नहीं खुलेगा। इधर उधर से पूछकर दूसरी जगह से हमारे आधार कार्ड में सुधार करवाने का प्रयास कर रहे है।

अन्य चार सेंटरों में भीे परेशानी, जन्मतिथि के लिए जन्म प्रमाण पत्र मांग रहे

इसके अलावा शहर के बैंक ऑफ इंडिया, पोस्ट ऑफिस, जनपद पंचायत कार्यालय और बैंक ऑफ बड़ौदा में भी आधार कार्ड सेंटर संचालित है। इन सेंटरों पर भी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों के अनुसार बैंक ऑफ इंडिया स्थित सेंटर में जन्मतिथि के मार्कशीट के बजाय जन्म प्रमाण पत्र मांगा जाता है। जबकि ज्यादा उम्र के लोगों का जन्म प्रमाण पत्र बना हुआ ही नहीं रहता है। शादीशुदा दंपत्तियों से मैरिज सर्टिफिकेट मांगा जाता है। पोस्ट ऑफिस स्थित सेंटर पर सिस्टम धीरे चलता है और जिसके कारण 20 आधार कार्ड का ही काम हो पाता है। जनपद पंचायत में 60 से 70 और बैंक ऑफ बड़ौदा के सेंटर पर करीब 30 आधार कार्ड में सुधार और नामांकन का काम हो पाता है। जबकि प्रतिदिन 10 से 4 बजे तक के समय में 150 कार्ड का कार्य किया जा सकता है।

प्रायवेट सेंटर संचालक अब पछता रहे : गौरतलब है कि पूर्व में आधार कार्ड संबंधी कार्य प्रायवेट दुकानदार भी करते थे। शहर में करीब एक दर्जन दुकानों पर आधार कार्ड संबंधी कार्य होता था। लेकिन प्रायवेट दुकानदारों द्वारा लोगों से 100 से 300 रुपए तक अधिक ले लिए जाते थे। देश के कई स्थानों से लगातार शिकायतें मिलने के बाद शासन ने आधार कार्ड संबंधी कार्य बैंक व सरकारी कार्यालय की निगरानी में करवाने का निर्णय लिया। इसके पश्चात जिले के लिए एक कंपनी को कार्य देकर सरकारी कार्यालय व बैंकों निगरानी में आधार कार्ड सेंटर शुरु किए गए। इस निर्णय के बाद प्रायवेट सेंटर संचालक पछता रहे है कि कुछ दुकानदारों के लालच के कारण अब सभी को पछताना पड़ रहा है।

नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक के आधार कार्ड सेंटर खुलने का इंतजार करते रहे लोग।

X
नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक का आधार पंजीयन केंद्र 4 दिन से बंद, लोग परेशान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..