• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Jhabua News
  • डॉक्टरों की ड्यूटी के बदलते वक्त आया मरीज, समय पर इलाज नहीं मिला, मौत
--Advertisement--

डॉक्टरों की ड्यूटी के बदलते वक्त आया मरीज, समय पर इलाज नहीं मिला, मौत

परिजन ने लगाया जिला अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप भास्कर संवाददाता | झाबुआ जिला अस्पताल में रविवार को...

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 04:00 AM IST
परिजन ने लगाया जिला अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप

भास्कर संवाददाता | झाबुआ

जिला अस्पताल में रविवार को डॉक्टरों की ड्यूटी बदलने वाले समय पर एक मरीज लाया गया। डॉक्टर समय पर नहीं मिले। करीब आधे घंटे तक मरीज के परिजन परेशान होते रहे। परिजन मरीज को डॉक्टर्स क्वाटर्स तरफ ले गए। यहां डॉक्टर ने मरीज का मृत घोषित कर दिया।

बाबू भाई कव्वाल उर्फ इरशाद अली (85) नि. हुड़ा को ब्लड प्रेशर की शिकायत थी। घर पर तबीयत बिगड़ी तो उन्हें तत्काल जिला अस्पताल लाया गया। समय शाम 5 बजे बज रही थी। यह समय इमरजेंसी ड्यूटी डॉक्टर के बदलने का होता है। इस दौरान करीब आधे घंटे तक करीब 15 की संख्या में परिजन पूरे अस्पताल में डॉक्टर को तलाशते रहे। कोई नहीं मिला। फिर डॉक्टर क्वाटर्स में डॉ. एके दुबे के यहां ले गए। उन्होंने बाबू भाई को मृत घोषित कर दिया। बाबू भाई के पोते तोशिब अली सैयद का कहना है गाड़ी अंदर ले जाने के लिए भी देर तक गेट नहीं खोला गया। करीब 30 मिनट तक कोई डॉक्टर नहीं मिले। आधा घंटे तक डॉक्टरों को ढूंढते रहे। वक्त पर डॉक्टर मिलता तो जान बच सकती थी। घटना के समय डॉ. वी. अजनार की ड्यूटी थी। उन्होंने कहा-मैं अस्पताल में ही था। लापरवाही का आरोप गलत है। बाद में मुझे पता लगा। उन्हें मृत ही अस्पताल में लाया गया था।

रविवार को हमेशा रहते हैं ऐसे हालात

जिला अस्पताल में हमेशा रविवार को ऐसे ही हालाात रहते हैं। इमरजेंसी ड्यूटी में केवल एक डॉक्टर मौजूद रहता है। ऐसे में इमरजेंसी केस आने पर मरीज को सही इलाज नहीं मिल पाता है। डॉक्टर कई बार अन्य कार्यों में व्यस्त हो जाते हैं। रविवार के अलावा छुटि्टयों में भी ऐसे हालात बनते हैं। इसी के चलते आए दिन विवाद होते रहते हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..