• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Jhabua
  • पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को मिल रही सुविधाएं देखने पहुंची बाल कल्याण समिति

पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को मिल रही सुविधाएं देखने पहुंची बाल कल्याण समिति / पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को मिल रही सुविधाएं देखने पहुंची बाल कल्याण समिति

Jhabua News - बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी ज्यूडिशियल बेंच) ने रविवार दोपहर 12 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचकर पोषण पुनर्वास...

Bhaskar News Network

Aug 06, 2018, 04:00 AM IST
पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को मिल रही सुविधाएं देखने पहुंची बाल कल्याण समिति
बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी ज्यूडिशियल बेंच) ने रविवार दोपहर 12 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचकर पोषण पुनर्वास केंद्र और चिल्ड्रन वार्ड का निरीक्षण किया। बच्चों को मिल रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। कमी मिलने पर उसे सुधारने के निर्देश भी दिए।

समिति के पदाधिकारी एवं सदस्य पहले जिला चिकित्सालय के द्वितीय तल पर स्थित कुपोषण वार्ड में पहुंचे। समिति की अध्यक्ष निवेदिता सक्सेना, यशवंत भंडारी व गोपालसिंह पंवार ने कुपोषित बच्चों की माता से बात की। उनसे पूछा कि वार्ड में उन्हें स्वास्थ्य विभाग की ओर से समुचित सुविधा मिल रही है या इस दौरान वार्ड में पदस्थ नर्सेस ने बताया वार्ड की छत एवं दीवारों से बारिश के दौरान पानी टपकता है। जिस हिस्से से पानी टपकता हैं वहां बच्चों को बेड पर नहीं सुला पाते हैं। ये बेड खाली पड़े रहते है। सीडब्ल्यूसी की टीम ने डॉ. जितेंद्र बामनिया से कहा कि वे लोक निर्माण विभाग से संपर्क कर तत्काल रिपेयरिंग कार्य करवाएं। इसके साथ ही यहां बच्चों के किए जा रहे उपचार एवं उनके स्वास्थ्य की प्रगति रिपोर्ट (भर्ती कार्ड) का भी सदस्य श्री भंडारी द्वारा सूक्ष्म निरीक्षण किया गया।

बच्चों की माता से चर्चा करते बाल कल्याण समिति के पदाधिकारी।

- चिल्ड्रन वार्ड भी देखा

चिल्ड्रन वार्ड के निरीक्षण के दौरान तीन कुपोषित बच्चे विशेष उपचार के लिए चिल्ड्रन वार्ड में भर्ती थे। ग्राम करड़ावद बड़ी निवासी वेस्ती पिता कालू मेड़ा (9 माह) भर्ती थी। जिसे उसके निकटतम रिश्तेदार ने बुखार एवं उल्टी-दस्त की शिकायत होने पर एडमिट किया गया था। बच्ची की मां का निधन हो चुका है इसलिए वर्तमान में वह उसकी देखरेख कर रही है। इस पर समिति ने बालिका को फास्टर केयर योजना के तहत लाभ दिलाने की प्रक्रिया की। उसे आर्थिक मदद मिले इसके लिए सामाजिक कार्यकर्ता को प्रकरण बनाकर समिति के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश देने की बात कहीं।

सफाई में मिली कमी

कुपोषित बच्चों के वार्ड में फिनाइल से फर्श पर पाेछा नहीं लगाने की बात सामने आई। कक्ष के बाहर फैली दुर्गंध का असर कक्ष के अंदर भी आ रहा था। जिसे दूर करने के निर्देश जिला चिकित्सालय के स्टीवर्ट को दिए।

X
पोषण पुनर्वास केंद्र में बच्चों को मिल रही सुविधाएं देखने पहुंची बाल कल्याण समिति
COMMENT