विज्ञापन

प्रभु प्रतिमा को रथ में बिठाकर तलेटी की यात्रा की

Bhaskar News Network

Aug 06, 2018, 04:00 AM IST

Jhabua News - मोहनखेड़ा तीर्थ पर 700 आराधकों के साथ आचार्य ऋषभचंद्रजी का चातुर्मास चल रहा है। रविवार सुबह 6.30 बजे तलेटी की यात्रा का...

प्रभु प्रतिमा को रथ में बिठाकर तलेटी की यात्रा की
  • comment
मोहनखेड़ा तीर्थ पर 700 आराधकों के साथ आचार्य ऋषभचंद्रजी का चातुर्मास चल रहा है। रविवार सुबह 6.30 बजे तलेटी की यात्रा का आयोजन किया। प्रभु प्रतिमा को रथ में लेकर शर्मिला बेन उर्मिला बेन भायंदर मुंबई वालें बैठे थे। तलेटी पर गिरीराज वंदना के बाद गिरीराज वधामणा का आयोजन सुगंधीलाल वेणीराम सराफ परिवार ने किया। दोपहर में प्रवचन पांडाल में प्रभु के 108 अभिषेक महापूजन किए गए। बड़ी संख्या में आराधकों ने हिस्सा लिया।

तीर्थ पर धर्मसभा कर आचार्य ऋषभचंद्रजी ने कहा कि ज्ञान रुपी कलश में आत्मा, समता रुपी जल भरकर जिन प्रतिमा का अभिषेक करती है तो उसके सारे कर्म चकनाचूर हो जाते है। व्यक्ति को ज्ञान का उपयोग करते हुए बड़े ही समता भावों के साथ प्रभु की पूजा अर्चना अभिषेक करना चाहिए। जिससे आराधक के सारे कर्मो की निर्जरा का मार्ग प्रशस्त हो जाता है। हमारे ह्रदय में जब तक प्रभु के प्रति समर्पण के भाव नहीं होगे तब तक हमें प्रभु की समीपता का अहसास नहीं होगा। प्रतिमा मानों तो पत्थर है और मानों तो वह परमात्मा है। परमात्मा साकार और निराकार दोनों रुप में मौजूद है। हम साकार रुप के दर्शन करते है निराकार रुप में हम ध्यान करते है। सगुण उपासना में प्रभु का अभिषेक पूजन पुष्प आदि अर्पित कर हम पूजा करते है। युगलीयों ने जब आदिनाथ प्रभु के चरणों में जल चढ़ाया था तब से प्रभु के चरणों की जल पूजा का विधान चल रहा है।

चातुर्मास पत्रिका का विमाेचन किया : प्रवचन के दौरान चातुर्मास की मुख्य पत्रिका का विमोचन लाभार्थी भीकमचंदजी कंकुचोपड़ा एवं भीनमाल जैन श्रीसंघ से सर्वश्री सुनिल मेहता, अशोक मेहता, यशपाल जानकर, हेमराज जोगाणी आदि ने किया। प्रवचन में झाबुआ, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, भीनमाल आदि संघों का आगमन हुआ। प्रवचन से पूर्व गहुंली पुष्पाबेन, उर्मिल बेन भायंदर ने की। प्रवचन के पश्चात प्रभु आरती का लाभ रमेशलाल लालचंद नाडोल पूना एवं दादा गुरुदेव की आरती का लाभ संजयकुमारजी सेठिया बांसवाड़ा को प्राप्त हुआ।

राजगढ़. मोहनखेड़ा तीर्थ से तलेटी तक यात्रा निकाली।

X
प्रभु प्रतिमा को रथ में बिठाकर तलेटी की यात्रा की
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन